Army

… तो योगी जी शहीद के घर में आपके लिए लगा था एसी-सोफा

देवरिया: बीते दिनों पुंछ में पाकिस्तान की बर्बरता का शिकार हुए शहीद प्रेम सागर के परिजनों से गुरुवार को सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मिलने पहुंचे तो उनके दौरे से पहले शहीद के घर में एसी, सोफा, कालीन सब नया-नया लाकर रखा गया। मुख्यमंत्री शहीद के परिजनों के साथ मात्र 11 मिनट रुके और उनके जाते ही घर में लगाए गए एसी, सोफे और अन्य चीजों को उनके अफसर उठा ले गए। मुख्यमंत्री ने शहीद प्रेम सागर के परिजनों को चार लाख रुपए का चेक और दो लाख रुपए की एफडी सौंपी थी।





दरअसल, प्रेम सागर की शहादत के 11 दिन बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रेमसागर के परिजन से मिलने देवरिया के टिकमपार गांव पहुंचे। योगी के दौरे के 24 घंटे पहले स्थानीय प्रशासन ने गांव की नालियों, सड़कों को साफ कराया, पानी पीने की उत्तम व्यवस्था, बांस-बल्लियों के सहारे शहीद के घर में एसी लगवाया, नए सोफे लाकर रखे, नए कालीन बिछाए और जैसे ही मुख्यमंत्री शहीद के घर से निकले वैसे ही अधिकारियों ने सारा सामान समेट लिया, शायद किराए पर लाए होंगे।

बांस-बल्ली के सहारे शहीद के घर एसी लगाया गया था

शहीद प्रेम सागर के बेटे ईश्वर चंद्र ने बताया, ”जिस कमरे में हमें सीएम योगी से मिलना था, उसमें शुक्रवार सुबह ही बांस-बल्ली के सहारे एसी लगा दिया गया था। सीएम के जाते ही सारी सुविधाएं हटा ली गईं। एसी को आधे घंटे के अंदर ही निकाल दिया गया।”

 

जांच के आदेश

यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा, “देवरिया में शहीद के घर योगी आदित्यनाथ गए थे। परिवार के साथ वहां के लोकल एडमिन की ओर से जो भी चूक हुई, उसकी जांच करवाएंगे। जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी। हम शहीदों के परिवारों के साथ हैं।

1 मई को शहीद हुए थे प्रेम सागर

पाकिस्तानी सेना ने 1 मई को एलओसी पर फायरिंग की थी। इस दौरान, बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) भारतीय इलाके में 250 मीटर अंदर तक घुस आई थी। BAT ने आर्मी-बीएसएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया था। इस हमले में 200वीं बटालियन के हेड कॉन्स्टेबल प्रेम सागर और 22 सिख इन्फैंट्री के नायब सूबेदार परमजीत सिंह शहीद हो गए। इतना ही नहीं पाकिस्तानी सेना इन जवानों के सिर काटकर ले गई थी। प्रेम सागर यूपी के और परमजीत पंजाब के रहने वाले थे।

Comments

Most Popular

To Top