Army

4 महीने पाकिस्तान की कैद में रहने वाला जवान छोड़ना चाहता है भारतीय सेना

जवान चंदू चव्हाण
जवान चंदू चव्हाण

नई दिल्ली। लगभग डेढ़ बरस पहले भारतीय सेना के जवान चंदू चव्हाण नियंत्रण रेखा पार कर पाकिस्तान चले गये थे। वहां उन्हें पकड़ लिया गया। पाकिस्तान ने उन्हें चार महीने बाद भारत को सौंपा था। अब चंदू चव्हाण ने सेना छोड़ने की इच्छा जाहिर की है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक अभी चंदू चव्हाण Kirkee मिलिट्री अस्पताल में भर्ती हैं और मनोचिकित्सा वार्ड में उनका इलाज चल रहा है।





अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि चंदू चव्हाण ने अब अपने वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर समय से पहले सेना से सेवामुक्त करने का अनुरोध किया है। पाकिस्तान ने चार महीने बाद चंदू चव्हाण को भारत को सौंपा था। देश लौटने के बाद उन्होंने कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का सामना किया और सजा भी भुगती। चव्हाण को बाद में अहमदनगर स्थित आर्म्ड सेंटर एंड स्कूल भेज दिया गया। तीन सप्ताह पहले इलाज के लिए उन्हें मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। मनोचिकित्सा वार्ड में उनका इलाज चल रहा है। बताया जाता है कि वहीं से उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर समय से पहले सेवामुक्त करने का अनुरोध किया है। चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि कुछ समय पहले जो कुछ मेरे साथ घटित हुआ है उसके बाद नौकरी करना कठिन हो गया है। पत्र में उन्होंने यह इच्छा भी जाहिर की है कि सेना से मुक्त होने के बाद वह सामान्य जीवन जीना चाहते हैं।

सेना ने चव्हाण के पत्र की पुष्टि नहीं की है।

Comments

Most Popular

To Top