Army

4 IAS अधिकारियों ने शहीदों के परिवारों को लिया गोद

परिवारों का पालन-पोशन करेंगे IAS

खटीमा। उधमसिंह नगर जिले के खटीमा स्थित विकास खण्ड सभागार में आयोजित वीर शहीदों की वीरांगनाओं के सम्मान समारोह में जिलाधिकारी डॉ नीरज खैरवाल सहित प्रबन्धक निदेशक टीडीसी पंतनगर आईएएस ज्योति खैरवाल, ट्रेनी आईएएस मीरा मेडा और आईएएस विनीत तोमर ने जिले की चार वीरांगनाओं को गोद लिया है।





जिले में यह अनूठी पहल है जिसकी शुरुआत जिलाधिकारी डॉ नीरज खैरवाल द्वारा की गयी है। जिले के सभी चार आईएएस अधिकारियों द्वारा खटीमा की वीरांगना गीता खडायत- पत्नी शहीद स्व. देवेन्द्र सिंह व खटीमा के ग्राम बीचवा की वीरांगना रेनू- पत्नी शहीद स्व. नरेश सिंह, काशीपुर की वीरांगना विमला देवी- पत्नी शहीद स्व. श्याम सिंह एवं बाजपुर की वीरांगना शारदा प्रवीन- पत्नी शहीद स्व. मोहम्मद रफी को गोद लिया गया।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि जिस तरह से सैनिकों का अपना एक संघ है उसी तरह से देश के आईएएस अधिकारियों का भी एक केन्द्रीय संघ है जिसमें यह निर्णय लिया गया कि सभी आईएएस अधिकारी देश के शहीदों के परिवारों को गोद लेकर उनका विभिन्न विषयों पर मार्गदर्शन करने के साथ ही प्रशासन स्तर पर लम्बित समस्याओं का समाधान करेगें।

जिलाधिकारी ने कहा कि हमने इस कार्य के लिए जनपद में खटीमा को इसलिए चयनित किया क्योंकि खटीमा शहीदों की भूमि है। उन्होंने कहा कि शहीदों की वीरांगनाओं को गोद लेने का मकसद यह है कि उनकी प्रशासन स्तर पर जितनी भी समस्याएं लम्बित पड़ी है उनका शीघ्र समाधान हो सके। साथ ही उनके बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में उचित मार्गदर्शन व प्रेरणा मिल सके। जिलाधिकारी ने कहा कि अन्य अधिकारी भी वीर शहीदों के परिवारों को गोद लेकर उनके मनोबल को बढ़ाएं ताकि शहीदों के परिवार यह महसूस करें कि वह अकेले नहीं हैं, अपितु जिला प्रशासन सहित पूरा समाज उनके साथ है।

अहम बात यह है कि इनकी मदद के लिए लैंडलाइन नंबर- 05944-250250 पर किसी भी तरह के भ्रष्टाचार, विभागीय अधिकारियों की अनदेखी जैसी शिकायतें सीधे दर्ज कराई जा सकती है।

Comments

Most Popular

To Top