Army

बादल फटने पर जवानों ने भाग कर बचाई जान

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ बादल फटने पर लापता जवानों की खोज करते भारतीय सेना के जवान

पिथौरागढ़। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में सोमवार तड़के मानसरोवर मार्ग में मालपा और मांगती नाले से सटे क्षेत्र में बादल फटने से 4 लोगों की मौत हो गई और सेना के तीन जवान सहित 6 लोग लापता हैं। मांगती नाले के समीप बने कैंप में रह रहे जवानों ने जैसे-तैसे भाग कर जान बचाई।





चीन सीमा के मार्ग पर बने कैंप में थे जवान

3 कुमाऊं रेजिमेंट के जेसीओ पांच जवान नाले के समीप बने कैंप में रह रहे थे। जेसीओ जवान धन सिंह, राजेन्द्र खाती और हेमराज तेज बारिश की आहाट सुनते ही तुरंत कैंप छोड़ कर निकल गए, जबकि उनका एक साथी लापता चल रहा है। सेना ने इन दिनों चीन की सीमा पर सक्रियता बढ़ाई है जिसके लिए सैन्य सामग्री सीमा तक पहुंचाई जा रही है इसके लिए मुख्य कैंप मांगती नाला घट्टाबगड़ में बनाया गया है। इस कैंप में सेना के तकरीबन एक दर्जन वाहन और सभी वाहनों को भारी नुकसान पहुंचा है। सैन्य सामग्री भी मलबे में दब गई है।

रेस्क्यू के लिए भेजा गया हेलिकॉप्टर

इस आपदा में 16 खच्चर, 2 सेना के वाहन भी मांगती नाले में बह गए हैं। प्रशासन ने कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग में हुए व्यापक नुकसान के बाद मानसरोवर यात्रा फिलहाल रोक दी है। सरकार रेस्क्यू के लिए हेलिकॉप्टर भेज रही है। आपदा को देखते हुए धारचूला में ही हेलिकॉप्टर तैनात रहेगा। आईटीबीपी, एसएसबी, सेना, एनडीआरएफ की टीम बचाव राहत में जुटी है।

Comments

Most Popular

To Top