Air Force

अपाचे हेलीकॉप्टर का भारत में बना पहला फ्यूजीलाज  

Apache-Helicopter

नई दिल्ली। अमेरिकी बोईंग कम्पनी के लड़ाकू हेलीकाप्टर अपाचे का भारत में बना पहला फ्यूजीलाज अमेरिका में मेसा स्थित बोईंग कारखाने के लिये भेजा गया। फ्यूजीलाज बनाने के लिये हैदराबाद में टाटा बोइंग एरोस्पेस लि. की स्थापना पिछले साल की गई थी।





बोईंग ने टाटा कम्पनी को साथ ले कर एक संयुक्त उद्यम की स्थापना पिछले साल की थी और इसके लिये एक अत्याधुनिक कारखाना बनाया। यह कारखाना 14 हजार वर्ग मीटर में फैला है औऱ यहां 350 उच्च कौशल वाले कर्मी काम करते हैं। इस कारखाने का उद्घाटन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल मार्च को किया था। यह कारखाना बोईंग के विश्वव्यापी सप्लाई के लिये अमेरिकी एसेम्बली लाइन को फ्यूजीलाज की सप्लाई करेगा।

यह कारखाना एएच-64 अपाचे हेलीकाप्टर के लिये अन्य उपकरणों और वर्टिकल स्पार बॉक्सों का भी उत्पादन करेगा। बोईंग कम्पनी के आला अधिकारी प्रत्युष कुमार ने कहा कि बोईंग और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स के लिये यह एक बड़ा कदम है। अपाचे हेलीकाप्टर बनाने के लिये हमने भारत में तकनीक, क्षमता औऱ कौशल निर्माण में जो निवेश किये हैं उसके सुफल मिलने शुरू हो गए हैं। जिस तेज गति से यह मील का पत्थर हमें हासिल हुआ वह हमारी प्रतिबद्धता का सबूत है। अंतरिक्ष वैमानिकी और रक्षा के क्षेत्र में प्रणालियों के साझा विकास में हम इसे एक बड़ा कदम मानते हैं।

टाटा बोईंग एरोस्पेस अमेरिकी बोईंग कम्पनी का भारत में पहला साझा उद्यम है। इसके लिये 2015 में टीएएसएल के साथ एक समझौता हुआ था। आज दुनिया भर में बोईंग के 23 सौ ऐसे ग्राहक हैं जो बोईंग द्वारा बनाए गए अपाचे हेलीकाप्टरों का संचालन करते हैं। अपाचे हेलीकाप्टर का इस्तेमाल अमेरिकी सेना भी करती है। इस हेलीकाप्टर को भारत सहित 16 देशों की सेनाओं ने हासिल करने का आर्डर दिया है। अमेरिकी सेना के अपाचे हेलीकाप्टरों ने अब तक 43 लाख उड़ान घंटों तक इसका इस्तेमाल किया है।

 

Comments

Most Popular

To Top