Air Force

Special Report: तेजस मार्क-1 को मिली अंतिम उड़ान मंजूरी

तेजस मार्क-1

बेंगलूर। स्वदेशी लाइट कम्बैट एयरक्राफ्ट एलसीए तेजस मार्क- 1 को  फाइनल ऑपरेशनल क्लीयरेंस (FOC) यानी अंतिम उड़ान मंजूरी देने का ऐलान यहां चल रही रक्षा प्रदर्शनी एयरो इंडिया- 2019 रक्षा प्रदर्शनी के दौरान किया गया।





रक्षा शोध एवं विकास विभाग के  सचिव, रक्षा शोध एवं विकास संगठन (DRDO)  के चेयरमैन और अंतरिक्ष वैमानिकी एजेंसी (ADA)  के महानिदेशक डा. जी सतीश रेड्डी ने यहां भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ की मौजूदगी में एलसीए तेजस मार्क- 1 को फाइनल ऑपरेशनल क्लीयरेंस देने का ऐलान किया। इस अवसर पर रक्षा सचिव संजय मित्र भी मौजूद थे।

एफओसी देने का मतलब है कि तेजस मार्क- 1 विमान भारतीय वायुसेना में अब पूरी तरह समाघात भूमिका निभाने के लिये तैयार हो चुका है जिसे वायुसेना में शामिल होने की अंतिम मंजूरी मिल चुकी है। तेजस मार्क- 1 अब वायुसेना के बेड़े में चार दशक से इस्तेमाल में लाए जा रहे रूसी मिग- 21 विमानों की जगह लेंगे।

एफओसी देने की सिफारिश सेंटर फार मिलिट्री एय़रवर्दिनेश एंड सर्टिफिकेशन (CEMILAC) ने तेजस मार्क-1 के लिये सर्टिफिकेट प्रदान किया था। यह विमान एलसीए तेजस का हथियारों से लैस करने वाली किस्म का होगा। यह एक इंजन और एक सीट वाला विमान है जिसका डिजाइन एऱोनोटिकल डेवलपमेंट एजेंसी  द्वारा किया गया है जब कि हिंदुस्तान एरोनाटिक्स लि. इसकी मुख्य साझेदार है। तेजस मार्क-1 को मिले एफओसी से अब हिंदुस्तान  ऐऱोनाटिक्स लि. एफओसी की किस्म पर तेजस का उत्पादन करेगी।

Comments

Most Popular

To Top