Air Force

स्पेशल रिपोर्ट: हम केवल लक्ष्य को नष्ट करना जानते हैं- वायुसेना प्रमुख

एयर स्ट्राइक

नई दिल्ली: वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने पाकिस्तान के बालाकोट पहाड पर भारतीय वायुसेना द्वारा किये गए हमले पर उठाए जा रहे सवालों को रद्द करते हुए कहा है कि वायुसेना केवल लक्ष्य को नष्ट करना जानती है । वायुसेना हताहतों का आकलान नहीं करती। यह काम सरकार का है।





कोयम्बतूर में वायुसेना के एक समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि  हताहतों की संख्या बताने की स्थिति में वायुसेना नहीं है। सरकार इस बारे में स्पष्टीकरण देगी। हम मानवों के हताहत होने पर ध्यान नहीं देते। हम केवल यही गिनती करते हैं कि हमने कितने लक्ष्यों को सटीक निशाना लगाया।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को सुबह साढ़े तीन बजे पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वा प्रांत के जम्मू कश्मीर से लगे बालाकोट इलाके पर हवाई हमला किया था । बालाकोट के इस पहाड़ पर आतंकवादी संगठन जैश ए मुहम्मद का प्रशिक्षण शिविर चलता है। इस पर हुए हमले में साढ़े तीन सौ लोगों के मारे जाने की शुरुआती रिपोर्टें आई थीं। भारतीय वायुसेना को बालाकोट पर हमला करने का निर्देश गत 14 फरवरी को पुलवामा में किये गए आतंकवादी हमले के बाद दिया गया था. इसे भारत की ओर से दूसरा सर्जिकल हमला करार दिया गया था।

बालाकोट पर दूसरे सर्जिकल  हमले के बाद पहली आधिकारिक टिप्पणी में  मिग-21 लड़ाकू विमानों की क्षमता के बारे में एयर चीफ मार्शल घनोआ ने कहा कि यह एक सक्षम विमान है। इसका अपग्रेड किया गया है। इसमें  बेहतर रेडार, हवा से हवा में मार करने वाली बेहतर मिसाइलें और बेहतर हथियार प्रणालियां लगी हैं।

उन्होंने कहा कि विदेश सचिव विजय गोखले ने अपने बयान में साफ तौर पर लक्ष्य के बारे में बताया था। हम यदि कोई लक्ष्य गिराना चाहते हैं तो हम उस पर सही निशाना लगाते हैं। अन्यथा क्यों पाकिस्तान जवाबी हमला करता। यदि हमने जंगलों में बम गिराये तो क्यों इमरान खान ने इस हमले का जवाब दिया।

विंग कमांडर अभिनंदन को फिर लड़ाकू विमान उड़ाने की ड्यूटी मिलने के बारे में वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि यह उनकी मेडिकल फिटनेस पर  निर्भर करता है। उनकी मेडिकल जांच चल रही है। उनकी जो भी चिकित्सा की जरुरत होगी उन्हें मिलेगी। उनकी मेडिकल फिटनेस की रिपोर्ट मिलने के बाद वह लड़ाकू विमान की काकपिट में बैठ सकेंगे।

एयर चीफ  मार्शल ने कहा कि एक योजनाबद्ध तरीके से किये गए हमले में  सुनियोजित हमला करते हैं लेकिन जब हमारा प्रतिद्वंद्वी हमारे पर हमला करता है तब हर उपलब्ध विमान इस्तेमाल में लाया जाता है।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा राफेल लडाकू विमानों की गैरमौजूदगी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हर विमान दुश्मन से लड़ने के काबिल है।

Comments

Most Popular

To Top