Air Force

स्पेशल रिपोर्ट: एयरो इंडिया में बड़ी भागीदारी के साथ उतरेगा ब्रिटेन

एयरो इंडिया में ब्रिटेन की 20 अग्रणी कम्पनियां भाग ले रही हैं
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली। भारत और ब्रिटेन के बीच सामरिक साझेदारी के रिश्तों के अनुरुप इस साल की एरो इंडिया रक्षा प्रदर्शनी में ब्रिटेन अपने रक्षा उद्योग को पूरी ताकत से दिखाएगा। बैंगलुरु के यलाहंका हवाई अड्डे पर आयोजित एरो इंडिया रक्षा प्रदर्शनी में ब्रिटिश पवेलियन में ब्रिटेन की 20 अग्रणी कम्पनियां भाग ले रही हैं।





बैंगलुरु में 20 से 24 फरवरी तक आयोजित रक्षा प्रदर्शनी में ब्रिटेन के भाग लेने के बारे में ब्रिटिश उच्चायुक्त डोमिनिक अस्किथ ने कहा कि भारत के साथ रक्षा साझेदारी को लेकर ब्रिटेन को गर्व है क्योंकि इससे भारत और ब्रिटेन दोनों को फायदा होता है। हमने रक्षा के कई क्षेत्रों में साथ मिल कर काम किया है। इन्द्रधनुष औऱ कोंकण साझा  सैन्य अभ्यासों के जरिये हमने समुद्री और नौसैनिक रिश्ते मजबूत किये हैं। ब्रिटेन के सबसे आधुनिक और अडवांस्ड विमानवाहक पोत ‘क्वीन एलिजाबेथ’ पर भारतीय नौसैनिकों के दौरे से नौसैनिक क्षमताओं को मजबूत करने के लिये  हमारे बीच साझा काम करने की गुंजाइश बनी है।

हाई कमिश्नर अस्किथ ने कहा कि हम इस रिश्ते को जारी रखना चाहते हैं। भविष्य की रक्षा तकनीक का विकास हम साझा सहयोग से कर सकेंगे। पिछले साल फार्नबोरो एयर शो के दौरान ब्रिटेन ने भविष्य की अपनी वायुसैनिक रणनीति जारी की। इसके तहत अगली पीढ़ी की हवाई समाघात क्षमता विकसित करने के लिये ब्रिटेन ने 1.9 अरब पाउंड की राशि आवंटित की है। हम आपसी साझेदारी से ज्ञान, सुरक्षा और समृद्धि हासिल करना चाहते हैं।

 एरो इंडिया- 2019 रक्षा प्रदर्शनी में भाग ले रहे उच्चस्तरीय ब्रिटिश शिष्टमंडल  अलायड एयर कमांड के डिप्टी एयर कमांडर एयर मार्शल स्टुअर्ट, ब्रिटिश निर्यात नीति की  निदेशक फ्लायर थॉमस, रक्षा मंत्रालय में सीनियर अडवाइजर एयर मार्शल निजेल मैडोक्स शामिल हैं।

Comments

Most Popular

To Top