Air Force

रूस से 21 मिग- 29 लड़ाकू विमान खरीदेगा भारत

नौसेना का मिग-29
फाइल फोटो

नई दिल्ली। राफेल विमान खरीद को लेकर मचे घमासान के बीच भारतीय वायुसेना ने रूस से 21 मिग- 29 खरीदने की योजना बनाई है। यह योजना ऐसे समय पर आई है जब भारतीय वायुसेना जागुआर की ऑपरेशनल एक्टिविटी बढ़ाने पर काम रही है।





भारत की रूस के साथ चल रही डील फाइनल हो जाती है तो 21 अपग्रेडेड वर्जन मिग- 29 रूस से खरीदने की तैयारी में है। भारतीय वायुसेना साल 2008 में 3,842 करोड़ रुपये की लागत से करीब 62 मिग अपग्रेड कराने की डील साइन कर चुकी है, जो कि तय वक्त से तकरीबन पांच साल पीछे चल रही है। फिलहाल यह संख्या तेजी से कम होगी, क्योंकि 06 पुराने मिग- 21 और मिग- 27 स्क्वॉड्रन 2024 तक समय-समय पर रिटायर हो जाएंगे।

एयर मार्शल खोसला ने कहा कि 36 राफेल के आने से जरूरत पूरी नहीं होगी। इसीलिए वायुसेना स्वदेशी तेजस फाइटर को भी तैयार कर रही है। भारतीय वायुसेना ने शुरुआत में 40 तेजस लड़ाकू विमान का ऑर्डर दिया है। अलावा इसके 43 सुधारों के साथ 83 तेजस मार्क- 1ए जेट्स भी मंगाए जा रहे हैं। इन 123 तेजस के डिवलपमेंट और निर्माण में कुछ 75,000 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इनमें से अभी महज 12 की डिलीवरी हुई है।

 

Comments

Most Popular

To Top