Air Force

पाक की इस चाल से देरी हुई विंग कमांडर अभिनंदन को मातृभूमि आने में

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान

अटारी। भारतीय वायुसेना के जांबाज पायलट, अदम्य साहस के धनी, शौर्य और पराक्रम के पर्याय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान मातृभूमि लौट आए हैं तथा सवा सौ करोड़ नागरिकों के बीच में हैं। लेकिन पाक ने चाल चली और रिहाई में देरी की।





लेकिन बता दें कि स्वदेश वापसी से पहले के घंटे संशय से भरे रहे। बार-बार सवाल उठ रहा था कि आखिर उनके भारत आने में इतनी देरी क्यों हो रही है। अभिनंदन को सौंपने को लेकर पाकिस्तान अपनी चालबाजी से बाज नहीं आया वह दिनभर चालें चलता रहा। पहली खबर आई थी कि अभिनंदन सुबह आ रहे हैं। फिर खबर आई दोपहर में आएंगे, इसके बागद खबर मिली की वह शाम को पहुंच रहे हैं। इस बीच भारत ने प्रशासनिक सुरक्षा कारणों से अटारी बॉर्डर पर होने वाली बिटिंग द रिट्रीट सेरेमनी को रद्द कर दिया।

इस तरह धीरे-धीरे विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी के घंटे बढ़ते चले गए। आखिरकार 59 घंटे बाद रात 9:21 बजे विंग कमांडर ने भारत की धरती पर कदम रखा। जब वह भारत लौटे तो उनका सीना शेर सा तना हुआ, आंखों में चमक और वीरोचित हाव-भाव थे। उनका स्वागत सीमा सुरक्षा बल के डीआईजी जेएस ओबरॉय ने किया। पाक सीमा से अपने देश की सीमा में आने तक अभिनंदन कुल 132 कदम चले और इसमें करीब 07 मिनट का समय लगा। अभिनंदन ने कहा- अपने देश आकर अच्छा लग रहा है।

अटारी सीमा से विंग कमांडर अभिनंदन को भारतीय वायुसेना के अधिकारी अपने साथ ले गए और कड़ी सुरक्षा के बीच उन्हें सीधे अमृतसर ले जाया गया। वायुसेना के विशेष विमान से वह दिल्ली पहुंचे और एयरपोर्ट से सीधे उन्हें आर्मी हॉस्पिटल ले जाया गया।

रिहाई में इसलिए हुई थी देरी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पायलट अभिनंदन की रिहाई में देरी इसलिए हुई कि पाकिस्तान अधिकारियों ने उनसे कैमरे पर बयान दर्ज करने को कहा। स्थानीय समय के अनुसार रात 8:30 बजे पाकिस्तान सरकार ने पायलट अभिनंदन का वीडियो जारी किया। दरस्तावेज से संबंधित मुद्दे भी देरी की वजह बने।

Comments

Most Popular

To Top