Air Force

वायुसेना में शामिल होंगे 83 तेजस लड़ाकू विमान, बढ़ेगी ताकत

तेजस

नई दिल्ली। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड से 83 स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू विमान तेजस को सरकार जल्द वायुसेना में शामिल करेगी। तेजस विमान की खरीद के प्रस्ताव वाले केंद्र सरकार के इस फैसले से लड़ाकू विमानों की कमी का सामना कर रही इंडियन एयरफोर्स जल्द ही और ताकतवर होगी। कहा जा रहा है कि तेज लड़ाकू विमानों का सौदा लगभग 60 हजार करोड़ में तय होने की उम्मीद है। यह घरेलू रक्षा क्षेत्र में सरकार द्वारा स्वीकृत अब तक का सबसे बड़ा सौदा होगा। वायुसेना ने हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) से इस बाबत औपचारिक प्रस्ताव मांगा है।





इसी के साथ लंबे समय से चल रही अटकलों पर विराम लग गया है। गौरतलब है कि अटकलों में कहा गया था कि वायुसेना ने तेजस के प्रस्तावित एडवांस वर्जन को नापसंद कर दिया है।

बुधवार को HAL ने बताया कि उसे वायुसेना से 83 हल्के लड़ाकू विमानों के लिए Request For Proposal मिला है। वायुसेना पहले ही 40 विमानों का ऑर्डर HAL को दे चुकी है। ये 40 विमान बेस वर्जन हैं और 83 विमान अपग्रेडेड वर्जन होंगे। वायुसेना लंबे समय से लड़ाकू विमानों की जरूरत महसूस कर रही है। अभी वायुसेना के पास 32 स्कवॉड्रन हैं जबकि इसे बढ़ाकर 42 स्कवॉड्रन करना है।

Comments

Most Popular

To Top