Featured

वियतनाम ने UN सुरक्षा परिषद में भारत की स्‍थायी सदस्‍यता का किया समर्थन, रक्षा संबंध होंगे मजबूत

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वियतनाम के राष्ट्रपति त्रान दाई क्‍वांग के बीच नई दिल्ली में प्रतिनिधि मंडल स्तर की बैठक के बाद दोनों देशों ने रक्षा व सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग को मजबूत बनाने पर जोर दिया है। इस बैठक के बाद जारी किये गए एक संयुक्त बयान के मुताबिक वियतनाम की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत को स्थायी सदस्यता का भी समर्थन किया गया।





दोनों ही देश सामरिक साझेदारी को मजबूत करने का ‘महत्वपूर्ण और प्रभावी स्तंभ’ मानते हुए आपसी रक्षा और सुरक्षा सहयोग मजबूत करने पर सहमत हुए हैं। एक संयुक्त बयान में सीमा पार किसी भी प्रकार के आतंकवाद की निंदा  की  है। विदेश मंत्रालय ने भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और वियतनाम के राष्ट्रपति के बीच शनिवार को हुई बातचीत के बाद एक दस्तावेज जारी किया। दस्तावेज के मुताबिक इस बातचीत में विभिन्न मुद्दों को शामिल किया गया है। गौरतलब है कि दोनों देशों ने परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए भी समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

चीन के सैन्य मजबूती की तरफ किया इशारा 

वियतनाम के राष्ट्रपति ने त्रान दायी क्वांग ने क्षेत्र में चीन के सैन्य मजबूती की तरफ इशारा करते हुए कहा कि हिंद-एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शांति और समृद्धि तभी आएगी जब सभी देश नौवहन की स्वतंत्रता की रक्षा करेंगे और संकीर्ण राष्ट्रवाद से लड़ेंगे।  त्रान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत की स्थायी सदस्यता की भी वकालत की। उन्होंने कहा कि उनका देश क्षेत्रीय संपर्क और सहयोग व्यवस्था में नई दिल्ली की सक्रिय भागीदारी का स्वागत करता है।

Comments

Most Popular

To Top