Featured

तिहाड़ जेल ने रकम तो काटी पर पीड़ितों तक नहीं पहुंची

तिहाड़ जेल
तिहाड़ जेल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। तिहाड़ जेल प्रबंधन ने सजायाफ्ता कैदियों से काम करने के बदले दी गई मजदूरी में से 25 प्रतिशत रकम तो वसूली पर वह पीड़ितों के कल्याण में खर्च नहीं हो पाई।





तिहाड़ जेल प्रशासन ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि वर्ष 2006 से अब तक पीड़ितों के कल्याण के लिए कैदियों से वसूली जाने वाली 15 करोड़ की धनराशि खर्च नहीं हो पाई है। एक जनहित याचिका के जवाब में यह जानकारी तिहाड़ प्रशासन ने हाईकोर्ट को दी।

जनहित याचिका में मांग की गई है कि तिहाड़ जेल प्रशासन की पीड़ितों के कल्याण के लिए वसूली गई 25 प्रतिशत रकम मनमानी है लिहाजा इसे रद्द किया जाए।

एक्टिंग चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस सी. हरिशंकर की बेंच के सामने जेल महानिदेशक ने कहा कि महज इस आधार पर कि केन्द्र और दिल्ली सरकार पीड़ितों के पुनर्वास के लिए योजनाएं चला रही हैं इस वेलफेयर फंड को बंद नहीं किया जाना चाहिए। कहा कि अब तक 184 पीड़ितों में 80 लाख 73 हजार रुपये का भुगतान किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top