Featured

फौजियों के छोटे बालों के चलन की यह है वजह, जानोगे तो हो जाओगे हैरान, जानें 9 खास बातें

फौजी कट या क्रू कट किसी भी फौजी की पहली पहचान होती है। अक्सर हम पूरी दुनिया में फौजियों को हमेशा ही छोटे और एक जैसे हेयरकट में देखते हैं। इसे आम तौर पर ‘फौजी कट’ भी कहा जाता है। ये हेयरस्टाइल न सिर्फ सैनिकों में बल्कि आम ब्वॉयज भी स्टाइलिश दिखने के लिए सैलून में इस पॉप्युलर हेयर कट की डिमांड करते हैं। लेकिन आप शायद नहीं जानते होंगे कि आर्मी सोल्जर्स की इस फौजी कट के पीछे की वास्तविक कहानी क्या है। आम नागरिकों के लिए यह हेयरस्टाइल एक फैशनेबल और स्टाइलिश चीज हो सकती है लेकिन युद्ध के मैदान में लड़ने वाले सैनिकों के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है। आइए आज आपको बताते हैं मिलिट्री कट से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।





जुओं की वजह से शुरू हुआ था चलन

आर्मी में छोटे बाल रखने का चलन

 

प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान बाल छोटे रखने का चलन सर्वप्रथम अमेरिकी सेना द्वारा शुरू किया गया था। युद्ध के दौरान गैस मास्क पहनने में आने वाली परेशानी के कारण जवानों से गंजा होने की मांग की जाने लगी। छोटे बाल दुश्मन की पकड़ में न आएं इसलिए भी ये चलन शुरू किया गया। जब विश्व युद्ध के दौरान, युद्ध के  दौरान अमेरिकी सैनिक अपने सिर में होने वाली जुओं से परेशान हो गए थे जब कोई उपाय कारगर नहीं हुआ तो अफसरों ने सैनिको को बाल छोटे कराने का आदेश दिया। और इस तरह ज्यादातर सैनिकों ने जुओं पर नियंत्रण पाने के लिए बाल छोटे करा डाले। धीरे-धीरे यह एक ट्रेंड बन गया और ब्रिटेन में भी ये हेयरस्टाइल काफी लोकप्रिय हो गया लेकिन ब्रिटेन के सैनिकों ने हेयरकट की एक अलग स्टाइल विकसित की जिसमें सिर के पीछे और साइड के बालों को काफी छोटा रखा जाता था।

Comments

Most Popular

To Top