Featured

Special Report: सेनाओं के वाइस चीफ अब पांच सौ करोड़ तक के सामान खरीदने को अधिकृत

Vice-Chief

नई दिल्ली।  तीनों सेनाओं की समाघात तैयारी हर वक्त चुस्त दुरुस्त रखने के इरादे से भारतीय रक्षा मंत्रालय ने एक अहम फैसला लेते हुए तीनों सेनाओं के वाइस चीफ के वित्तीय अधिकारों में पांच  गुना की बढोतरी कर दी है।





 अब तक वाइस चीफ के रैंक के सैन्य अधिकारियों को सौ करोड़ रुपये के सैनिक साज सामान अपने स्तर पर मंजूर करने की अनुमति थी। अब यह सीमा बढाकर पांच सौ करोड़ रुपये कर दी गई है। यह जानकारी देते हुए यहां रक्षा मंत्रालय. के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने बताया कि इस निर्णय  से तीनों सशस्त्र सेनाओं  को  यह सुविधा हो जाएगी कि आपात जरुरत वाले सैनिक साज सामान सेना मुख्यालय अपने विवेक से हासिल कर सकें।

 सैन्य अधिकारियों के मुताबिक इस फैसले से सेनाओं की जरुरतों को पूरा करने में नौकरशाहों की  भूमिका काफी घट जाएगी। अब तक यह प्रथा चली आ रही है कि यदि कोई सैनिक साज सामान सेना को मुहैया कराना हो तो उसका प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय के पास भेजा जाता था जिसे मंजूर करने में अक्सर महीनों लग जाते थे।इससे  सेनाओं की समाघात तैयारी पर असर पड़ता था। कई सैनिक साज सामान मंजूरी के बिना खरीदे नहीं जा सकते थे जिससे सेनाओं की प्रहारक शक्ति पर प्रतिकूल असर पड़त था।

सेनाओं के गोला बारूद भंडार अक्सर घट जाते थे और उन्हें आपात स्तर पर खरीदने की जरुरत होती थी। लेकिन रक्षा मंत्रालय के नौकरशाह इन खरीद प्रस्तावों को मंजूरी देने में आनाकानी करते थे।

Comments

Most Popular

To Top