Featured

Special Report: अमेरिकी सहायक विदेश मंत्री क्लार्क कूपर भारत दौरे पर

India-US-Flag

नई दिल्ली। भारत में नई सरकार के गठन और शपथ ग्रहण के साथ ही अमेरिका के आला राजनयिक भारतीय अधिकारियों के साथ सामरिक मसलों पर चर्चा के लिये इन दिनों भारत दौरे पर हैं। अमेरिकी दल सिंगापुर होते हुए भारत और श्रीलंका के दौर पर आ रहा है। इस दल की अगुवाई राजनीतिक और सैन्य मामलों के सहायक विदेश मंत्री आर क्लार्क कूपर कर रहे हैं जो यहां 31 मई को भारतीय अधिकारियों से मिलेंगे।





सहायक विदेश मंत्री कूपर हथियार नियंत्रण एवं अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मामलों की अवर विदेश मंत्री एंड्रिया एल. थॉम्पसन के साथ शांगरी-ला संवाद के लिए कार्यकारी रक्षा मंत्री पैट्रिक एम. शैनहन की अगुआई वाले वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों के शिष्टमंडल में सम्मिलित होंगे। शांगरी-ला संवाद पूरे हिंद-प्रशांत क्षेत्र के रक्षा एवं सुरक्षा नीति विशेषज्ञों के बीच परस्पर चर्चा का एक मंच है। सहायक विदेश मंत्री कूपर दुनिया भर के देशों के वरिष्ठ असैनिक और सैनिक अधिकारियों से भी मिलेंगे और उनसे क्षेत्रीय सुरक्षा और समुद्री सुरक्षा के क्षेत्रों में अमेरिकी साझेदारी, और रक्षा व्यापार प्रयासों के बारे में चर्चा करेंगे जिसका कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र को मुक्त, खुला और समावेशी बनाने में योगदान है।

भारत में, सहायक विदेश मंत्री कूपर रक्षा सहयोग और शांति स्थापना संबंधी वार्ताओं में भाग लेंगे। ये दोनों ही विषय अमेरिका सरकार की हिंद-प्रशांत रणनीति की परिकल्पना के अनुरूप तेज़ी से बढ़ती अमेरिका-भारत साझेदारी के प्रमुख घटक हैं। अमेरिका-भारत का द्विपक्षीय रक्षा व्यापार 2008 के लगभग नगण्य के स्तर से उठ कर आज सालाना 15 अरब डॉलर के बराबर पहुंच गया है। ये वार्ताएं एक प्रमुख रक्षा साझेदार की भारत की भूमिका का समर्थन करने, दोनों देशों के सुरक्षा सहयोग का विस्तार करने, और अमेरिकी उद्योगों के लिए अवसर बढ़ाने पर केंद्रित रहेंगी।

Comments

Most Popular

To Top