Featured

स्पेशल रिपोर्ट: तीनों सेनाएं साथ युद्ध लड़ने को तैयार

युद्ध अभ्यास

नई दिल्ली।  भविष्य के युद्धों में भारत की तीनों सेनाओं को एक संयुक्त रणनीति से उतारने के लिय तीनों सेनाओं ने कर्नाटक के  कारवाड़ से गोवा के समुद्र तट और मैदानी इलाकों में एक साझा त्रिसेना युद्धाभ्यास  17 से  23 नवम्बर तक संचालित किया।





नौसेना के पश्चिमी कमांड के  सहयोग से एकीकृत रक्षा स्टाफ (आईडीएस)  द्वारा तीनों सेनाओं को साथ लेकर  होने वाला यह त्रिसैन्य अभ्यास साल में दो बार आयोजित किया जाने लगा है।

युद्ध अभ्यास

इस अभ्यास में नौसेना ने  कोलकाता वर्ग के विध्ंवंसक पोत, लैंडिंग शिप, फ्लीट सपोर्ट शिप  और  हेलिकॉप्टर तैनात करने वाले युद्धपोतों को  उतारा। इनके अलावा नौसेना के मरीन कमांडो ( मार्कोस ) के साथ  वायुसेना औऱ थलसेना के स्पेशल फोर्सेज को भी शामिल किया गया।

युद्ध अभ्यास

वायुसेना ने अपने सी-17  ग्लोब मास्टर , सी-130  हर्कुलस , आईएल-76 , एएन-32  विमानों को उतारा ।  इस अभ्यास के दौरान एम्फीबियस लैंडिंग, हवाई जमीन कार्रवाई, कम्बैट फ्री-फाल आदि ऑपरेशन किये गए।  इस के जरिये वायुसेना और नौसेना जमीन पर थलसेना के जवानों को घुसपैठ करा कर युद्ध लड़ने की रणनीति पर भी काम किया गया।

युद्ध अभ्यास के दौरान पैराशूट

इस अभ्यास के दौरान साझा तौर पर युद्ध ल़डने की क्षमता औऱ एक दूसरे के संसाधनों का सक्षम इस्तेमाल, युद्ध के दौरान स्टैंडर्ड ऑपरेशन प्रैक्टिसेज (एसओपी) विकसित किये जाते हैं ।

Comments

Most Popular

To Top