Featured

खास रिपोर्ट: काटसा से बचने के लिये अमेरिका से कोई वादा नहीं

ऱाष्ट्रपति ट्रंप
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (सौजन्य- गूगल)

नई दिल्ली।  रूस  के साथ किसी तरह का रक्षा सम्बन्ध रखने  वाले देशों पर प्रतिबंध  लगाने वाले अमेरिकी काटसा कानून से बचने के लिये भारत ने अमेरिका को किसी तरह का आश्वासन नहीं दिया है।





गौरतलब है कि तीन  दिनों पहले ही सिंगापुर में भारत और अमेरिका के रक्षा मंत्रियों की अहम मुलाकात हुई है जिसके बारे में अटकलें लगाई गई थीं कि अमेरिका ने भारत पर काटसा कानून में सशर्त ढील देने के मसले पर बात की है और भरोसा दिया है कि भारतीय वायुसेना के लिये अमेरिकी लॉकहीड कम्पनी के एफ-16 लड़ाकू विमानों का सौदा करेगा।

गौरतलब है कि अमेरिका ने कुछ दिनों पहले भारत को आगाह किया था कि  रूस से एस-400 एंटी मिसाइल सौदा करेगा तो भारत पर अमेरिकी प्रतिबंध कानून कैटसा लागू हो जाएगा। इसके तहत भारतीय संस्थाएं रूसी रक्षा कम्पनियों के साथ किसी तरह का वित्तीय लेनदेन नहीं कर सकती हैं। इसके अलावा भारत पर भी कई तरह के रक्षा प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।

अक्टूबर के पहले सप्ताह में रूसी राष्ट्रपति  ब्लादीमिर पुतिन के भारत दौरे में एस- 400 एंटी मिसाइल के पांच अरब डालर का सौदा सम्पन्न हुआ था।

राजनयिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि अमेरिकी प्रतिबंध कानूनों को भारत यदि स्वीकार करता है तो इससे भारत के रूस के साथ दिवपक्षीय रक्षा औऱ सामरिक रिश्तों पर भारी असर पड़ेगा। इससे भारत की रक्षा तैयारी भी प्रभावित होगी जिससे खासकर चीन के सामने भारत की सैन्य ताकत  कमजोर होगी। भारत और अमेरिका हिंद प्रशांत इलाके में आपसी सामरिक सहयोग भी कर रहे हैं। अमेरिकी प्रतिबंधों की वजह से भारत और अमेरिका के बीच  हिंद प्रशांत इलाके में चल रहा सहयोग भी प्रभावित हो सकता है।

Comments

Most Popular

To Top