Featured

खास रिपोर्ट: रूस और पाकिस्तान की सेनाएं कर रही हैं साझा सैन्य अभ्यास

पाक-रूस की आर्मी का साक्षा अभ्यास
पाक-रूस की आर्मी का साझा अभ्यास (फाइल फोटो)

 नई दिल्ली। रूस औऱ पाकिस्तान की सेनाओं ने पाकिस्तान के  उत्तर पश्चिमी प्रांत के खैबर पख्तुनख्वा प्रांत में 24 अक्टूबर से साझा थलसैनिक अभ्यास शुरु कर दिया जो 4 नवम्बर तक चलेगा।





 रूस औऱ पाकिस्तान के  बीच द्रुजबा-2018 नाम के इस साझा अभ्यास का सिलसिला 2016 में शुरु हुआ था तब भारत के सामरिक हलकों में इसे लेकर गहरी चिंता जाहिर की गई थी। अब भारत के मीडिया में ये रिपोर्टें खबर नहीं बनती । शायद इसलिये कि रूस औऱ पाकिस्तान के बीच गहराते सामरिक सम्बन्धों को सामरिक हलकों में यह मान लिया गया है कि दोनों  की दोस्ती पर भारत- रूस दोस्ती की आंच नहीं पड़ सकती।

खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हो रहे इस साझा अभ्यास में दो सौ से अधिक रूसी औऱ पाकिस्तानी सैनिक भाग ले रहे हैं। रूस के नार्थ कोकेसस प्रांत के कराचाई केरकसिया इलाके की मोटरोइज्ड राइफल ब्रिगेड के  करीब 70 पर्वतीय सैनिक इस अभ्यास में भाग लेने पाकिस्तान दो दिनों पहले ही पहुंच गए थे।

 रूस और पाकिस्तान के बीच गहराती सामरिक दोस्ती का असर हालांकि भारत और रूस के रिश्तों पर पड़ता नहीं देखा गया है लेकिन अफगानिस्तान को लेकर रूस की पाकिस्तान से हमदर्दी दिखाने वाली नीति का एक असर हुआ है कि अफगानिस्तान में भारत विरोधी तालिबान अब ताकतवर होने लगा है।  रूस कभी तालिबान का दुश्मन होता था औऱ रूस औऱ भारत ने मिलकर काबुल में बैठी तालिबान की सरकार के खिलाफ साझा अभियान चलाया था लेकिन अब वहां खेल का पासा पलट चुका है।

 पाकिस्तान के प्रति बदली हुई रूसी नीति की वजह से रूस ने पाकिस्तान को हथियारों की सप्लाई का सिलसिला भी शुरु कर दिया है जो भारत के लिये चिंता पैदा कर सकता है। हालांकि रूस ने पाकिस्तान को अब तक ऐसे संहारक हथियार पाकिस्तान को नहीं बेचे हैं जिससे भारत की सेना को सीधी चुनौती पेश होती हो लेकिन इससे पाकिस्तान को मनोबल तो बढ़ता ही है।

Comments

Most Popular

To Top