Featured

स्पेशल रिपोर्टः अफगानिस्तान में भारतीय इंजीनियरों के अपहरण में पाक एजेंसी का हाथ

नई दिल्ली। अफगानिस्तान के अशांत उत्तरी बगलान प्रांत में तालिबान द्वारा सात भारतीय इंजीनियरों के अपहरण के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ बताया जा रहा है।





यहां राजनयिक हलकों में शंका जाहिर की गई है कि उत्तरी अफगानिस्तान से भारतीय बिजली कम्पनियों को बाहर करने के नापाक इऱादे से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ने यह कारनामा किया है। यहां सूत्रों ने बताया कि स्थानीय युद्ध सरदारों की मदद से भारतीय इंजीनियरों को रिहा करने की कोशिश चल रही है लेकिन इसमें सफलता हाथ लगने के संकेत अभी तक नहीं मिले हैं।

भारतीय कर्मियों को डराने के इरादे से किया गया अपहरण

इस बात की शंका जाहिर की गई है कि अफगानिस्तान में विकास कार्य कर रहे भारतीय कर्मियों को डराने के इऱादे से ताजा अपहरण किया गया है ताकि अफगानिस्तान में भारत विकास कार्यों में अपनी भागीदारी नहीं बढाए। पिछले वर्षों में कई बार पाकिस्तानी एजेंसिंयों ने भारतीय विकास परियोजनाओं को निशाना बनाया है।

यहां मिली रिपोर्टों के मुताबिक अपहरण के वक्त सात भारतीय इंजीनियर बिना सुरक्षा गार्ड के जा रहे थे। इसकी वजह यह थी कि स्थानीय अधिकारियो के अलावा तालिबान ने भी भारतीय कम्पनी से यह वादा किया था कि उन्हें किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। रिपोर्टों के मुताबिक भारतीय इंजीनियरों को रविवार को चश्मा ए शहर इलाके से अगवा किया गया था।

भारतीय इंजीनियरों के वाहन का अफगानी ड्राइवर भी लापता

अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने इस बारे में भारतीय विदेश मंत्री से फोन पर बात की है औऱ भरोसा  दिलाया है कि भारतीय इंजीनियरों को रिहा करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। भारतीय इंजीनियर जिस वाहन में जा रहे थे उसका अफगानी ड्राइवर भी लापता है। बगलान प्रांत के गवर्नर ने रविवार को कहा था कि भारतीय इंजीनियरों को भारत सरकार के कर्मी समझ कर अगवा किया गया। इस बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय अफगानी सुरक्षा बलों के सम्पर्क में है।

Comments

Most Popular

To Top