Featured

स्पेशल रिपोर्ट: निर्मला कजाकस्तान से लौटीं- रक्षा सहयोग गहरा करेंगे

निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली।  रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के तीन दिनों के कजाकस्तान दौरे में दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को औऱ गहरा  व विस्तार देने पर सहमति हुई है। रक्षा मंत्री  के स्वदेश लौटने के बाद यहां रक्षा मंत्रालय की प्रवक्ता ने बताया कि  मध्य एशियाई देश कजाकस्तान के रक्षा मंत्री के निमंत्रण पर गई निर्मला सीतारमण ने दोनों देशों के बीच पहले से ही चल रहे गहरे रक्षा सहयोग की समीक्षा की और सहयोग के नये कार्यक्रमों पर विचार किया।





दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग का समझौता पिछले साल जनवरी में दस साल के लिये आगे बढाया गया था। प्रवक्ता के मुताबिक भारत औऱ कजाकस्तान के बीच रक्षा सहयोग सैन्य तकनीकी स्तर  पर औऱ सैन्य शिक्षा व ट्रेनिंग , साझा सैन्य अभ्यास  और सैन्य कैड़ेटों के एक दूसरे के यहां दौरों की शक्ल में चल रहा है। हाल में ही दक्षिणी कजाकस्तान में दोनों देशों ने कम्पनी स्तर का साझा  सैन्य अभ्यास काज-इंड- 2018  सम्पन्न  हुआ है। भारत औऱ कजाकस्तान के बीच ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रिश्ते रहे हैं जिसके बिना पर  दोनों देशों ने बहुआयामी रिश्तों की बुनियाद रखी है। दोनों देश 2009  से ही सामरिक साझेदार रहे हैं।

कजाकस्तान के रक्षा मंत्री नुरलान येरमेखबेव  के साथ निर्मलासीतारमण ने संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षक दल के लिये लेबनान जा रहे सैन्य दल को हरी झंडी दिखाई। कजाकस्तान  की यह सैन्य टीम लेबनान में भारतीय सैन्य टीम के साथ तैनात होगी।

निर्मला सीतारमण ने दोनों देशों के बीच रक्षा साज सामान के साझा उत्पादन की सम्भावनाओं पर भी चर्चा की। उन्होंने कजाकस्तान के विदेश मंत्री कैरत अधरखमैनोंव के साथ भी मुलाकात कर क्षेत्रीय सुरक्षा हालात पर बातचीत की।  निर्मला सीतारमण ने कजाकस्तान के रक्षा व अंतरिक्ष वैमानिकी उद्योग के मंत्रियों को भारत दौरे का निमंत्रण दिया औऱ कहा कि अगले साल फरबरी में बेंगलूर में हो रही एरो इंडिया रक्षा प्रदर्शनी में भाग लें।

Comments

Most Popular

To Top