Featured

स्पेशल रिपोर्ट: मोदी और जयशंकर ने पाक से कहा- आतंक से मुक्त माहौल में ही बेहतर रिश्ते

पीएम मोदी और विदेश मंत्री
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। भारतीय नेताओं ने पाकिस्तानी नेताओं से  फिर कहा है कि  भारत पाकिस्तान सहित सभी देशों के साथ आतंक और हिंसा से मुक्त माहौल में ही परस्पर विश्वास का माहौल बनाना चाहता है।





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री का कार्यभार सम्भालने के बाद सुब्रमण्यम जयशंकर ने जब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री  शाह मोहम्मद कुरैशी को बधाई संदेश भेजकर भारत के साथ बातचीत बहाल करने की जरूरत बताई तो भारतीय प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री जयशंकर ने इसका जिक्र किये बिना अपने जवाबी संदेश  में कहा कि बेहतर रिश्तों के लिये जरूरी है कि आतंक, हिंसा और दुश्मनी से मुक्त माहौल का निर्माण किया जाए।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी मीडिया में भारतीय प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री के जवाबी संदेशों का गलत मतलब निकालते हुए कहा गया है कि भारत ने पाकिस्तान द्वारा बातचीत की पेशकश का सकरात्मक जवाब दिया है।

इस बारे में सफाई देते हुए यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि  स्थापित राजनयिक परम्पराओं के मुताबिक ही प्रधानमंत्री मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर ने पाकिस्तानी नेताओं के बधाई संदेशों का जवाब दिया है। इसमें भारतीय नेताओं ने पाकिस्तान से बातचीत बहाल करने के बारे में कुछ नहीं कहा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री मोदी के पत्र का विवरण जारी किया। इसके मुताबिक  बातचीत के लिये यह जरुरी है कि पहले हिंसा औऱ आतंक से मुक्त माहौल पैदा किया जाए।  दूसरी  ओर विदेश मंत्री ने अपने संदेश में कहा कि आतंक औऱ हिंसा की छाया से मुक्त माहौल बनाया जाए।

गौरतलब है कि एक पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कहा था कि  क्षेत्रीय शांति औऱ समृद्धि के हित में भारत पाकिस्तान औऱ  क्षेत्र के अन्य देशों के साथ भारत बातचीत करने को तैयार है।   भारतीय प्रवक्ता ने पाकिस्तानी दावे को पूरी तरह गलत बताया।

यहां राजनयिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि पाकिस्तान में इमरान खान के प्रधानमंत्री पद ग्रहण करने के बाद भी  भारत के खिलाफ हिंसा के माहौल में कोई बदलाव नहीं आया है। इसलिये भारत अपने कंधे पर बंदूक रखवा कर पाकिस्तान से बातचीत का सिलसिला नहीं शुरू कर सकता।

Comments

Most Popular

To Top