Featured

स्पेशल रिपोर्ट: हिंद महासागर में बनेगा भारत-यूरोपीय यूनियन के बीच सैन्य रिश्ता

यूरोपीय यूनियन के लीडरों के साथ पीएम

नई दिल्ली। 28  यूरोपीय देशों के संगठन यूरोपीय  यूनियन  और भारत के बीच हिंद महासागर में समुद्री सुरक्षा मजबूत करने के इऱादे से सैनिक सम्बन्ध विकसित किये जाएंगे। यहां यूरोपीय यूनियन के राजदूत तोमास्ज कोजलावस्की ने यह जानकारी देते हुए कहा कि हिंद महासागर में यूरोपीय यूनियन की सैन्य मौजूदगी के आधार पर दोनों पक्षों के बीच सहयोग का रिश्ता बनेगा।





कोजलावस्की ने कहा कि हिंद महासागर में सैन्य सहयोग स्थापित करने की काफी व्यापक गुंजाइश है। भारत और यूरोपीय यूनियन ने समुद्री डाकाजनी के खिलाफ आपसी सहयोग किये हैं। राजदूत ने कहा कि यूरोपीय यूनियन और भारत को समुद्री कानून पर संयुक्त राष्ट्र संधि का आदर सुनिश्चित करने के लिये समुद्री सुशासन के नजरिये से मिल कर सहयोग करना चाहिये । इसके अलावा उन्होंने कहा कि यूरोपीय यूनियन और भरत को निकट का सैन्य  सहयोग करना चाहिये।

गौरतलब है कि भारत के साथ सहयोग औऱ साझेदारी को और गहरा करने के इरादे से यूरोपीय यूनियन ने  अपने मुख्यालय ब्रसल्स में एक रणनीति पत्र जारी किया है। यह रणनीति पत्र यूरोपीय यूनियन के उच्च प्रतिनिधि मोगेरेनी ने जारी करते हुए कहा कि  आपस में जुड़ी दुनिया में भारत एक प्रमुख खिला़डी है। इसलिये हम  भारत के साथ  अपने आर्थिक , राजनीतिक और जनतास्तर पर सम्पर्क और गहरा करना चाहते हैं। इससे वैश्विक चुनौतियों का हम बेहतर मुकाबला कर सकेंगे।

यूरोपीय यूनियन के राजदूत

राजदूत ने कहा कि यूरोपीय यूनियन का रवैया बहुपक्षीय आधार पर अंतरराष्ट्रीय सम्बन्धों को विकसित करना है। उन्होंने कहा कि यूरोपीय यूनियन कोई सैन्य संगठन नहीं है लेकिन इसके पास कुछ सैन्य क्षमता जरूर है। हम  अपनी सैन्य क्षमता को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं। सदस्य देशों के अपने रक्षा कार्यक्रम हैं और यूरोपीय यूनियन की साझा रक्षा व समर नीति है  और हमारे पास चारों ओर सैन्य संसाधन  तैनात करने की  क्षमता है। हिंद महासागर में  अटलांटा नौसैनिक टास्क फोर्स सक्रिय है जो समुद्री डाकुओं से मुकाबला कर रहा  है। हम इसके तहत भारत के साथ नजदीकी सहयोग कर रहे हैं।

राजदूत ने बताया कि पिछले साल अक्टूबर में ही भारत औऱ यूरोपीय यूनियन के बीच नौसैनिक पैसेज अभ्यास हुआ था। इसी के साथ यूरोपीय यूनियन ने भारत से आग्रह किया है कि सोमालिया को खाद्य सामग्री पहुंचाने वाले पोत को सुरक्षा देकर सोमालिया के तट तक पहुंचाने में मदद करें । हिंद महासागर में समुद्री सुरक्षा गहरा करने के इरादे से उपग्रह से टोही दायित्व भी निभाए जा रहे हैं। इस इरादे से  भारत के साथ  तीन महीना पहले एक समझौता हुआ था जिसके तहत एक भूनिरीक्षण उपग्रह की सुविधा भारत को दी जाएगी।

राजदूत ने बताया कि एक सुरक्षा नायक की हैसियत से यूरोपीय यूनियन ने कार्रवाई करने की अपनी क्षमता में बढ़ोतरी की है इसलिये  यूरोपीय यूनियन अपने एशियाई साझेदारों के साथ अपना सहयोग कर इसका दायरा बढाना चाहती है। इसी इरादे से यूरोपीय यूनियन भारत के साथ सैन्य ताल्लुकात गहरे करना चाहती  है ताकि सहयोग के ठोस कदम  उठाए जा सकें।

 भारत और यूरोपीय यूनियन के बीच 125 अरब यूरो का सालाना व्यापार है और अब दोनों देश मुक्त व्यापार समझौता करने को प्रतिबद्ध हैं और इस पर दोनों के बीच बातचीत चल रही है। राजदूत ने कहा कि भारत के सतत विकास में यूरोपीय यूनियन एक स्वाभाविक साझेदार है।

Comments

Most Popular

To Top