Forces

स्पेशल रिपोर्ट: भारत सिंगापुर का अब तक का सबसे बड़ा नौसैनिक अभ्यास

भारतीय नौसेना 
भारतीय नौसेना का संयुक्त अभ्यास (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। दक्षिण पूर्व एशिया में भारत का भरोसेमंद साथी सिगापुर के साथ भारत साझा नौसैनिक अभ्यास की  इस साल रजत जयंती मना रहा है। रजत जयंती साल में दोनों देशों की नौसेनाओं के  बीच साझा अभ्यासों का सिलसिला जारी रखते हुए  सिम्बेक्स-18  दस नवम्बर से शुरू होगा और 21  नवम्बर तक चलेगा। पिछले साल यह अभ्यास दक्षिण चीन सागर के इलाके में हुआ था।





दक्षिणपूर्व एशियाई देशों के संगठन आसियान में सिंगापुर एक ताकतवर देश है और वह आसियान और भारत के सम्बन्धों को गहरा करने में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। भारत के साथ अपने गहरे सामरिक सम्बन्धों के अनुरूप ही सिंगापुर भारत के साथ रक्षा आदान प्रदान को गहरा कर रहा है। भारत की एक्ट ईस्ट नीति के तहत भारत भी सिंगापुर के साथ रिश्तों को विशेष अहमियत दे रहा है।

सिम्बेक्स-18  इस साल  अंडमान सागर और बंगाल  की खाड़ी में आयोजित हो रहा है जिसमें पनडु्ब्बी नाशक युद्द के अभ्यास भी होंगे. इस इरादे से सिंगापुर औऱ भारत की पनडुब्बियां बीच समुद्र में एक दूसरे से तालमेल बनाएंगी  और एक दूसरे की संचालन प्रक्रियाओं को समझेंगी । 1994  के बाद से यह अभ्यास अब तक का सबसे ब़ड़ा होगा। इस दौरान पनडुब्बी नाशक के अलावा पनडुब्बी बचाव व राहत अभ्यास भी होंगे।

भारत की एक्ट ईस्ट नीति के तहत दोनों देशों की तीनों सेनाओं और रक्षा अधिकारियों के बीच कई स्तरों पर सहयोग और आदान प्रदान को निरंतर विस्तार दिया जा रहा है। इस सहयोग का ढाचा काफी  घना हो चुका है जिसके तहत 20  से अधिक वार्ताएं और आदान प्रदान होते हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाल में शांगरीला डायलाग  के बहाने  हुए सिंगापुर दौरे  में रक्षा और सामरिक सहयोग के तहत भारत और सिंगापुर  रक्षा और सामरिक सहयोग के कई नये समझौते किये गए। दोनों इस बात पर सहमत हुए कि अपने अपने समुद्री इलाके में संस्थागत नौसैनिक सहयोग औऱ आदान प्रदान तो करेंगे ही आसियान के समान विचार वाले सदस्य देशों के साथ भी बहुपक्षीय सहयोग को गहरा करेंगे।

सिम्बेकेस -18 में भारतीय नौसेना की ओर से सिंधुघोष वर्ग की पनडुब्बी आईएनएस सिंधुकीर्ति के अलावा  विध्वंसक पोत आईएनएस रणविजय , स्टील्थ फ्रिगेट आईएनएस सतपुरा औऱ सह्याद्री , समु्द्र टोही और पनडुब्बी नाशक विमान पी-8 आई ,चेतक और सीकिंग हेलीकाप्टरों को उतारा जा रहा है।

 सिंगापुर की ओऱ से स्टील्थ फ्रिगेटों के अलावा पनडुब्बी को भी साझा अभ्यास में भेजा गया है। सिंगापुर नौसेना स्कैन्ड ईगल मानवरहित टोही विमान को भी उतार रही  है।

Comments

Most Popular

To Top