Featured

स्पेशल रिपोर्ट: हेराफेरी रोकने के लिए विदेश मंत्रालय अब जारी करेगा ई-पासपोर्ट

ई पासपोर्ट

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय पासपोर्टों में हेरफेर या इनकी नकल बनाने से रोकने के लिये ई-पासपोर्ट जारी करेगा जिसमें विशेष चिप लगे होंगे। इस चिप में किसी व्यक्ति की सारी जानकारी भरी होगी।





यहां पासपोर्ट सेवा दिवस के मौके पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने देश भर से आए पासपोर्ट अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि चिप लगे इन ई-पासपोर्टों को जारी करने के प्रोजेक्ट को प्राथमिकता के आधार पर लागू किया जा रहा है। इसमें हेरफेर रोकने की उन्नत तकनीक हैं।

जयशंकर ने कहा कि विदेश मंत्रालय पासपोर्ट जारी करने औऱ उन्हें डिलीवरी करवाने का लगातार काम कर रहा है। एनडीए सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल में आम जनता से बेहतर सम्पर्क औऱ पहुंच बनाने के लिये पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया में सुधार किया था। पासपोर्ट सेवा प्रोजेक्ट के तहत भारतीय मिशनों में पासपोर्ट जारी करवाने की प्रक्रिया भी एकीकृत की थी। पिछले साल अक्टूबर से विदेश मंत्रालय ने भारत के 25 दूतावासो में पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया को एकीकृत कर आसान बनाया था। इससे प्रवासी भारतीयों को निश्चित समय़ावधि में पासपोर्ट जारी करना आसान होगा।

पासपोर्ट अधिकारियों के मुताबिक चिप लगा पासपोर्ट आईआईटी कानपुर और नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर ने साझा तौर पर बनाया है। यह पासपोर्ट इंटरनेशनल सिविल एविएशन आर्गेनाइजेशन के नियमों के अनुकूल होगा। अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन ने इसके लिये एक वैश्विक तौर पर मान्य प्रक्रिया तय की है। ई-पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया साल 2017 में शुरू हुई थी। ई-पासपोर्ट पहले राजनयिकों और अधिकारियो को जारी होंगे। इसके बाद आम नागरिकों को ये पासपोर्ट मिलने लगेंगे।

अधिकारियों ने बताया कि ई-पासपोर्ट नमूने की जांच एक अमेरिकी प्रयोगशाला में की गई है। इसके अंतिम पन्ने पर सिलिकान चिप लगे होंगे। इसकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इसकी छपाई औऱ उत्पादन में किसी व्यावसायिक एजेंसी का सहयोग नहीं लिया गया है।

Comments

Most Popular

To Top