Featured

स्पेशल रिपोर्टः भारत ने सेशल्स को भेंट किया एक और समुद्र टोही डार्नियर विमान

डॉर्नियर प्लेन के साथ सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। सेशल्स के राष्ट्रपति डैनी फोर को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यहां आयोजित एक समारोह में समुद्री गश्त विमान डार्नियर- 228 सौंपा। भारत ने इस तरह का यह दूसरा टोही विमान सेशल्स को भेंट में दिया है। इस विमान के जरिये सेशल्स अपने समुद्री इलाके की बेहतर चौकसी कर सकेगा।





सेशल्स करीब 95 हजार आबादी वाला हिंद महासागर का अफ्रीकी द्वीप देश है। इस देश को अपने सैन्य प्रभुत्व में लाने के लिये चीन और अमेरिका जैसे देशों की गहरी नजर है लेकिन भारत की कोशिश है कि सेशल्स के साथ दोस्ती और गहरी कर उसकी सैनिक ताकत मजबूत करने में मदद दी जाए। राष्ट्रपति फोर की यहां प्रधानमंत्री नरेनद्र मोदी से बातचीत के दौरान सेशल्स के Assumption Island (एजम्पशन द्वीप) पर सैन्य सुविधा के साझा विकास पर भी सहमति बनी है। उल्लेखनीय है कि अब तक सेशल्स के राष्ट्रपति यही कहते रहे हैं कि Assumption Island भारत को सौंपने का अनुमोदन प्रस्ताव संसद में नहीं रखा जाएगा।

सेशल्स के राष्ट्रपति ने इस मौके को यादगार दिवस बताया और कहा कि यह एक ऐतिहासिक दिन है। सेशल्स के कोस्ट गार्ड में इसे शामिल करने से समुद्र तटीय टोही भूमिका बेहतर तरीके से निभाई जा सकेगी। इस विमान की बदौलत सेशल्स के विशेष आर्थिक क्षेत्र को सामरिक गहराई मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह विमान काफी सही वक्त पर सेशल्स को मिला है और यह 29 जून को सेशल्स के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उड़ान भरेगा। उन्होंने कहा कि यह विमान दोनों देशों के बीच मजबूत रिश्तों का परिचायक है।

डार्नियर विमान को सौंपे जाने को भारत सेशल्स रिश्तों में एक और मील का पत्थऱ बताते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि यह विमान सेशल्स को सौंपना भारत सरकार की सेशल्स के साथ बहुआयामी रिश्तों को विस्तार देने की भारत की प्रतिबद्धता का परिचायक है। श्रीमती स्वराज ने इस डोर्नियर विमान का एयरवर्दीनेस सर्टिफिकेट भी सौंपा।

केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने सेशल्स के राष्ट्रपति को विमान की सांकेतिक चाभी सौंपी। डार्नियर विमान की निर्माता कम्पनी हिंदुस्तान ऐरोनाटिक्स लि. के चेयरमैन औऱ प्रबंध निदेशक टी सुवर्णा राजू ने इस मौके पर कहा कि हिंदुस्तान ऐरोनाटिक्स लि. (HAL) के लिये यह एक सुनहरा मौका है। यह विमान तयशुदा वक्त से पहले सौंपा जा सका है। HAL ने सेशल्स के पायलट औऱ मेनटेनेंस स्टाफ को ट्रेनिंग दी है। HAL सेशल्स को इस विमान की मरम्मत और देखरेख के लिये हर सम्भव मदद देने को प्रतिबद्ध है।

डार्नियर-228 विमान में 360 डिग्री का टोह रेडार लगा होता है। इसके अलावा इसमें फारवर्ड लुकिंग इन्फ्रारेड सिस्टम, उपग्रह संचार,  ट्रैफिक कोलाइजन औऱ अव्वायडेंस सिस्टम, एनहांस्ड ग्राउंड प्रोक्सीमीटी वार्निग सिस्टम आदि लगाए गए हैं।

इस तरह का पहला विमान सेशल्स को 31 जनवरी, 2013 को सौंपा गया था। इसके बाद मार्च, 2015 में सेशल्स के दौरे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेशल्स को एक और डार्नियर विमान सौंपने का वादा किया था। दो टर्ब्रप्राप इंजन वाले इस विमान का इस्तेमाल मुख्य तौर पर समुद्र टोही, प्रदूषण निगरानी, कंट्रोल, सर्च एंड रेस्क्यू और यात्री सेवाओं में इस्तेमाल किया जाता है। दो पायलटों वाला काकपिट दूर तक उड़ान भर सकता है और इसके मेनटेनेंस पर काफी कम खर्च आता है। यह विमान छोटी हवाई पट्टी पर भी उतर सकता है।

 

Comments

Most Popular

To Top