Featured

स्पेशल रिपोर्ट: भारत और पाकिस्तान ने कैदियों की भी सूची एक दूसरे को सौंपी

पाकिस्तान में कैद भारतीय मछुवारे
पाक की जेलों में कैद भारतीय मछुवारे (फाइल)

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान ने साल  2008 में किये गए एक समझौते के तहत एक जनवरी को एक दूसरे के यहां कैदियों की सूची की अदलाबदली की है। नई दिल्ली और इस्लामाबाद में राजनयिक माध्यम से इस सूची का आदान प्रदान किया गया। इस सूची में नागरिक कैदियों  और मछुवारों के नाम होते हैं।





यहां भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस सूची का हर साल एक जनवरी और एक जुलाई को आदान-प्रदान होता है। भारत ने पाकिस्तान को 249 पाकिस्तानी नागरिक कैदियों और 98 मछुवारों की सूची सौंपी जब कि पाकिस्तान ने भारत के  54 नागरिक कैदियों और 483 मछुवारों की सूची सौंपी है।

भारत सरकार ने पाकिस्तान से अपील की है कि नागरिक कैदियों की जल्द रिहाई कर उनकी वापसी हो, 1971 के युद्ध में लापता  सैनिकों को लौटाए और मछुवारों को उनकी नौकाओं के साथ वापस करे।

भारत ने यह भी कहा है कि 17 भारतीय  कैदियों और 369 भारतीय मछुवारों को जल्द रिहा करे। इनकी राष्ट्रीयता की पहचान कर ली गई है। दूसरी ओर पाकिस्तान के 80 कैदियों की भारत में सजा पूरी हो चुकी है और वे जल्द स्वदेश लौटना चाहते हैं। भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि इनके स्वदेश लौटने की कार्रवाई तेज करे। पाकिस्तान  ने इनकी राष्ट्रीयता की पुष्टि नहीं की है।

यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि बुजुर्गों, महिलाओं और मानसिक तौर पर विक्षिप्त कैदियों के मानवीय मसलों के मद्देनजर भारत ने पाकिस्तान को पुनर्गठित संयुक्त न्यायिक समिति की विवरण पाकिस्तान को सौंपा है। भारत ने कहा  है कि मानसिक तौर पर विक्षिप्त भारतीय कैदियों से मिलने देने के लिये पाकिस्तान भारतीय डाक्टरों को पाकिस्तान की जेलों का दौरा करने दे। भारत ने पाकिस्तान से  यह भी कहा है कि  पाकिस्तान की हिरासत में भारतीय  मछुवारों  की मछलीमार नौकाओं को लौटाने के लिये भारतीय मछुवारों के प्रतिनिधियों को पाकिस्तान का दौरा करने दिया जाए।

Comments

Most Popular

To Top