Featured

स्पेशल रिपोर्ट: अजीत डोभाल को कैबिनेट मंत्री का मिला दर्जा

एनएसए अजीत डोभाल

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार  अजीत डोभाल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में न केवल अपने सुरक्षा सलाहकार के तौर पर बनाए रखने का फैसला किया है बल्कि उन्हें पदोन्नित दे कर उनका दर्जा भी  ऊंचा करने का फैसला किया गया है।





अजीत डोभाल को अब कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। पहले उनका दर्जा राज्य मंत्री का था। गौरतलब है  कि इसके पहले के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन और एम के नारायणन को राज्य मंत्री का दर्जा मिला था। भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्र को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कैबिनेट का रैंक दिया था।

अब भारत की अंदरुनी और बाहरी सुरक्षा रणनीति तैयार करने के लिये तीन आला अधिकारियों में तालमेल बनाना होगा। विदेश मंत्री के तौर पर एस जयशंकर भी कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं। गृहमंत्री के तोर पर अमित शाह भी एक प्रभावशाली मंत्री साबित होंगे। इसलिये भारत की समर नीति को दिशा देने में तीनों-  अजीत डोभाल, जयशंकर और अमित शाह – के बीच तालमेल की बेहद जरुरत होगी। हालांकि माना जा रहा है कि अमित शाह प्रधानमंत्री के खास सलाहकार और सहयोगी रहे हैं इसलिये राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों पर अंतिम राय गृह मंत्री अमित शाह की ही मानी जाएगी।

भारतीय पुलिस सेवा के आला  अधिकारी रहे अजीत डोभाल को कैबिनेट दर्जा देने का फैसला कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने  जारी किया। कमेटी के सचिव पी के त्रिपाठी के हस्ताक्षर से जारी एक नोट में कहा गया है कि अजीत डोभाल अगले आदेश तक या प्रधानमंत्री के कार्यकाल में बने रहने तक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार का दायित्व सम्भालते रहेंगे।

Comments

Most Popular

To Top