Featured

स्पेशल रिपोर्टः भूटान से होगी डोकलाम के ताजा हालात पर चर्चा

सिक्किम सीमा

नई दिल्ली।  भूटान के प्रधानमंत्री त्सेरिंग तोबगे के गुरुवार से शुरु हो रहे भारत के तीन दिनों के दौरे में  सुरक्षा और सामरिक मसलों पर आपसी सहयोग और तालमेल गहरा करने के मसले पर गहन बातचीत होगी।





पिछले साल डोकलाम में भारत और चीन की सेनाओं के बीच 73 दिनों तक चली तनातनी के मद्देनजर भारतीय नेतृत्व भूटान के प्रधानमंत्री को काफी अहमियत दे रहा है। माना जा रहा है कि इस दौरे में भूटान और चीन के बीच सीमा मसले को लेकर चल रही बातचीत पर भी भारतीय पक्ष को जानकारी दी जाएगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यहां भूटान के प्रधानमंत्री के भारत दौरे का ऐलान करते हुए कहा कि इस दौरे से भारत और भूटान के बीच मिसाल देने लायक रिश्तों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री तोबगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के अलावा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मिलेंगे। उल्लेखनीय है कि पिछले फरवरी माह में प्रधानमंत्री तोबगे ने  निवेशक शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिये गुवाहाटी का दौरा किया था। इस दौरान उनकी प्रधानमंत्री मोदी से अलग से बैठक हुई थी। तोबगे के पिछले भारत दौरे के पांच दिनों बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेश सचिव विजय गोखले ने भूटान का दौरा कर वहां के आला अधिकारियों से मुलाकात की थी।

गुरुवार को होने वाली मुलाकात में प्रधानमंत्री तोबगे और प्रधानमंत्री मोदी डोकलाम के ताजा सुरक्षा हालात पर चर्चा करेंगे। उल्लेखनीय है कि डोकलाम के इलाके पर चीन ने कब्जा किया हुआ है लेकिन इस पर भूटान का प्रादेशिक दावा है। भारत ने इस मौके पर कहा है कि भारत और भूटान के बीच दोस्ती और सहयोग की अनोखी मिसाल है जो परस्पर समझ और विश्वास पर आधारित है।

Comments

Most Popular

To Top