Featured

Special Report: चीन का आला सैन्य दल भारत में, शांति के लिये जमीनी उपायों पर वार्ता

चाइनीज ऑफिसर

नई दिल्ली। चीनी जनमुक्ति सेना के पश्चिमी थियेटर कमांड का एक उच्चस्तरीय सैन्य शिष्टमंडल नई दिल्ली में सेना मुख्यालय में उच्चस्तरीय चर्चा के बाद दार्जीलिंग के निकट सुकना सैन्य छावनी मंगलवार को पहुंचा। वहां त्रिशक्ति कोर के जनरल आफसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप एम बाली भारत चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति व परस्पर भरोसा का माहौल बनाए रखने के लिये जमीनी उपायों को लागू करने पर बातचीत करेंगे।





सैन्य कमांडर स्तर पर दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों की यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है।

दोनों देशों के क्षेत्रीय सैन्य कमांडरों की यह बैठक अप्रैल में वूहान में भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिन फिंग के बीच हुई सहमति के मद्देनजर हो रही है।यहां सैन्य अधिकारियों के मुताबिक वूहान बैठक में हुई सहमति को जमीनी स्तर पर लागू करने के इरादे से चीनी सैन्य शिष्टमेंडल की सुकना में हो रही बैठक काफी अहम है। वूहान बैठक में दोनों देशों के नेताओं ने आपसी रिश्तों को मजबूत करने की जरूरत पर जोर दिया था। इस बैठक में दोनों नेताओं ने सैन्य रिश्ते मजबूत करने की जरूरत पर भी जोर दिया था।

यहां सैन्य अधिकारियों ने बताया कि सुकना बैठक में दोनों देशों के सैन्य अधिकारी एक दूसरे को बेहतर समझ सकेंगे और इस दौरान विचारों का आदान प्रदान करेंगे। चीनी सैन्य दल में दस अधिकारी शामिल हैं।

सुकना में दोनों सैन्य शिष्टमंडलों के बीच बातचीत के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे जिसमें भारत के पारम्परिक नृत्य की झांकी देखने को मिलेगी। इसके बाद चीनी सैन्य दल के सम्मान में रात्रिभोज का भी आयोजन होगा।

सुकना बैठक के बाद चीनी सैन्य दल पांच जुलाई को कोलकाता रवाना होगा जहां उनकी पूर्वी थलसैनिक कमांड के आला अधिकारियों से भी मुलाकात होगी।

Comments

Most Popular

To Top