Featured

खास रिपोर्ट: ‘विष कन्याओं’ के चक्कर में न पड़ने के लिए सेना ने किया आगाह

हनीट्रैप

नई दिल्ली। भारतीय सैनिक सोशल मीडिया पर नकली  विदेशी ‘विष कन्याओं’ (हनी ट्रैप) के चक्कर में नहीं पड़ें इसके लिये सैन्य मुख्यालयों ने अपने सैनिकों को आगाह किया है। सोशल मीडिया जैसे ट्वीटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम  जैसी वेबसाइटों पर विदेशी खुफिया एजेंसियां लड़कियों के भेष में अपने एकाउंट खोल कर भारतीय सैनिकों को फंसाने की कोशिश करते हैं और उनसे कई तरह की खुफिया जानकारी हासिल करने में कामयाब हो जाते हैं।





रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने राज्यसभा में आज एक सवाल के जवाब में उक्त आशय की लिखित जानकारी दी है। भामरे ने सवालों के जवाब में 2018 के साल के दौरान ऐसी किसी वारदात की जानकारी नहीं दी लेकिन बताया कि 2017 में थलसेना के दो सैनिक सोशल मीडिया पर ‘विष कन्याओं’ के चक्कर में फंसे।

इसी के मद्देनजर हर सैनिक को अब सैन्य मुख्यालय आगाह करने लगे हैं कि सोशल मीडिया पर किसी अनजान से बातचीत या सम्पर्क नहीं करें औऱ न ही अपने बारे में कोई जानकारी साझा करें। सैन्य मुख्यालयों के ट्रेनिंग संस्थानों में प्रवेश करने वाले युवकों पर खास तौर पर ध्यान दिया जा रहा है।

भामरे ने बताया कि 2016 के दौरान नौसेना, थलसेना या वायुसेना का एक भी सैनिक ‘विष कन्याओं’ के चक्कर में नहीं पड़ा। 2015 के दौरान थलसेना के दो और वायुसेना का एक सैनिक ‘विष कन्याओं’ के चक्कर में पड़ा था।

Comments

Most Popular

To Top