Featured

स्पेशल रिपोर्टः  स्थापना दिवस पर वायुसेना ने दिखाई दुनिया को अपनी ताकत

वायुसेना दिवस

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने अपनी स्थापना की 86 वीं सालगिरह पर गाजियाबाद स्थित हिंडन  वायुसैनिक अड्डे पर रोमांचक हवाई ताकत का प्रदर्शन किया औऱ दुश्मन देशों और अंतरराष्ट्रीय सामरिक हलकों को यह संदेश दिया कि भारतीय वायुसेना किसी भी चुनौती का मुकाबला करने को तैयार है।  वायुसेना दिवस परेड की सलामी लेने के बाद वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी. एस. धनोआ ने कहा कि राफेल लड़ाकू विमानों और एस-400 एंटी मिसाइल प्रणालियों से वायुसेना की ताकत में भारी इजाफा होगा। देश की सीमाओ की रक्षा में योगदान के लिये उन्होंने हवाई योद्धाओं की सराहना की।





इस मौके पर वायुसेना के ल़ड़ाकू विमानों, हेलीकाप्टरों औऱ परिवहन विमानों ने रोंगटे ख़ड़े कर देने वाला प्रदर्शन किया और अपनी हमलावर और रक्षात्मक क्षमता से दुनिया को अवगत कराया। आठ अक्टूबर को हर साल मनाये जाने वाले वायुसेना दिवस के मौके पर हिंडन वायुसैनिक अड्डे पर वायुसेना के सुखोई-30 एमकेआई,  मिग-21, मिग-29 ,  एलसीए तेजस,  सूर्यकिरण विमानों और एडवांस्ड लाइट हेलीकाप्टर सारंग की करतब टीमों ने अपने रोमांचक आसमानी खेल से सबका दिल मोह लिया।

वायुसेना दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा भारतीय जनता पार्टी व कांग्रेस के अध्यक्षों ने भी वायुसेना दिवस को बधाई औऱ शुभकामनाएं दी हैं। रामनाथ कोविंद ने कहा कि वायुसेना दिवस पर हम अपने हवाई योद्धाओं, रिटायर सैनिकों औऱ उनके परिवार वालों को गर्व के साथ सम्मान करते हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे हवाई योद्धा जो धैर्य, साहस औऱ जोश दिखाते हैं उन पर हमें नाज है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संदेश में कहा कि कृतज्ञ राष्ट्र अपने हवाई योद्धाओं को सलाम करता है।  उन्होंने कहा कि ये हमारे आसमान को सुरक्षित रखते हैं और प्राकृतिक आपदाओं के दौरान मानवता की रक्षा करते हैं।

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ ने परेड की सलामी ली। इस मौके पर वायुसेना के अलावा थलसेना और नौसेना के अन्य आला अधिकारी और विदेशी दूतावासों के रक्षा अताशे भी मौजूद थे।

करीब दो घंटे तक चले इस समारोह में वायुसेना ने अपने पुराने विमानों को भी दिखाया इसमें टाइगर मोथ,  हारवर्ड, डकोटा आदि शामिल थे।

परेड का शुभारम्भ जगप्रसिद्ध आकाश गंगा टीम द्वारा वायुसेना के ध्वज को सलामी मंच के सामने से फहराते हुए किया गया। इन हवाबाजों को एएन-32 परिवहन विमानों ने सलामी मंच के ऊपर के आसमान में उतारा। बाद में फ्लाईपास्ट के दौरान एमआई-17 वी-5 और रुद्र हेलीकाप्टरों,  डार्नियर, सी-130 हर्कुलस,  सी-17 परिवहन विमानों, जगुआर,  मिग- 21, बाइसन, मिग-29 ,  मिराज-2000  और सुखोई-30 एमकेआई  लड़ाकू विमानों ने भी अपनी रोमांचक उड़ान दिखाई ।

भारत में बने लाइट कम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस ने भी दर्शकों के सामने हवाई करतब पेश किये।  हाक-132 ट्रेनर विमानों की सूर्या एऱोबैटिक्स टीम और हेलीकाप्टर हवाई करतब टीम सारंग ने भी अपनी हवाई कलाबाजी से दर्शकों के रोंगटे खड़े कर दिये।

वायुसेना दिवस पर स्वागत समारोह में पीएम मोदी

पीएम मोदी स्वागत समारोह में

वायुसेना दिवस पर वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के निवास पर आयोजित स्वागत समारोह में पुरस्कार विजेताओं ने साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिस्सा लिया।

 

 

Comments

Most Popular

To Top