Featured

दिल्ली पुलिस: पहले दिल की दवा दी, फिर मोबाइल भी बरामद किया

मोबाइल चोर दबोचा गया
मोबाइल चोर दबोचा गया (सौजन्य- नवभारत टाइम्स)

नई दिल्ली। वैसे तो पुलिस का काम ही है बदमाशों, चोरों को पकड़ना लेकिन कई बार पुलिस का एक अलग चेहरा देखने को मिलता है। सोमवार को जब स्नैचर ने दिल के मरीज के मोबाइल पर अपना हाथ साफ किया तो उसे पकड़ने के प्रयास में उसकी तबीयत बिगड़ गई। जब वह अपनी मदद के लिए नजदीक स्थित दरियागंज थाने पहुंचा, तो वहां इशारों में ही अपनी सारी परेशानियों को पुलिसकर्मियों से अवगत कराया। पुलिस ने सबसे पहले उसे प्राथमिक उपचार दिया, फिर साथ ले जाकर मौके-ए-वारदात का मुआयना किया। घटना के महज दो घंटे के अंदर दरियागंज थाने की पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया।





पुलिस के अनुसार, देवबंद निवासी मोहम्मद राकिब (33 वर्ष) दिल के मरीज हैं। दिल का इलाज एलएनजेपी में चल रहा है। सोमवार को इलाज के लिए वह दिल्ली आए थे, जहां इलाज के बाद हॉस्पिटल से निकलकर स्टैंड से बस पकड़ी। इस दौरान राकिब के मोबाइल पर न तो कॉल आ रही थी और न ही जा रही थी। तभी बस में किसी ने कहा कि एक बार सिम निकालकर उसे साफ करें और फिर सही तरीके से लगाएं। राकिब बस के भीतर ही मोबाइल से सिम निकालकर दोबारा फिट करने लगे।

ठीक उसी वक्त एक युवक ने उनके हाथ से मोबाइल छीना और बस से उतरकर भागने लगा। एकाएक हुई इस वारदात से घबराए राकिब भी स्नैचर के पीछे शोर मचाते हुए दौड़े। कुछ दूर के बाद ही राकिब की दिल की धड़कनें काफी तेज हो गईं। लुटेरा मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया। उन्होंने हांफते हुए एक राहगीर को घटना के बारे में बताया। उसने थाने की तरफ इशारा करते हुए शिकायत करने की बात कही। पसीने से तरबतर मोहम्मद राकिब थाने पहुंचे। तबीयत बिगड़ती देख एसएचओ मंगेश ने उन्हें बिठाया और पूछा पर राकिब उस समय भी कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं थे। उन्होंने दिल की साइड हाथ रखते हुए इशारा किया कि वह मरीज हैं और उनका मोबाइल छीन लिया गया है। पुलिसकर्मियों ने फौरन राकिब को फर्स्ट एड दिया।

सामान्य होने पर राकिब ने आपबीती बताई। इसके बाद हेड कॉन्स्टेबल सोमनाथ व कॉस्टेबल श्रीभगवान वहां से राकिब को लेकर घटना वाली जगह पर पहुंचे। वहां एक बच्चे ने उस स्नैचर को भागते हुए देखा था जिसकी निशानदेही पर पुलिस ने सर्च ऑपरेशन किया तो LNJP के पीछे वह आरोपी दिख गया। पुलिस को देखते ही आरोपी वहां से भागा, जिसे करीब 1 किमी तक खदेड़ने के बाद गिरफ्त में लिया गया। उसके कब्जे से लूटा गया मोबाइल भी बरामद हो गया। पूछताछ के दौरान उसकी पहचान एलएनजेपी कॉलोनी निवासी मोहम्मद कासिम के तौर पर हुई है।

Comments

Most Popular

To Top