Featured

हर रोज तीन बार संघर्ष विराम का उल्लंघन करता है पाकिस्तान

सीमा पर जवाबी कार्रवाई करते जवान
सीमा पर भारतीय जवान (फाइल फोटो )

नई दिल्ली। पाकिस्तानी सेना अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर हर रोज लगभग तीन बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रही है। इस वर्ष अब तक वह लगभग 480 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुकी है। पिछले वर्ष इसी अवधि में उसने 111 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। यानी संघर्ष विराम की संख्या में 400 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हुआ है। संघर्ष विराम की इन घटनाओं में पाकिस्तान ने न सिर्फ भारतीय पोस्टों पर अकारण हमला किया बल्कि गांवों को भी निशाना बनाया। पाकिस्तान की इन हरकतों का भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया है।





मीडिया खबरों के मुताबिक संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में बढ़ोतरी की एक वजह यह भी है कि पाकिस्तान में चुनाव का माहौल है और इस समय वहां सेना किसी नेतृत्व के प्रति जवाबदेह नहीं है। खबरों में सीमा सुरक्षा बल के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा दोनों ही जगह गोलीबारी की घटनाओं में इजाफा हुआ है। पाकिस्तानी सेना और रेंजर्स फिलहाल किसी नेतृत्व के प्रति जवाबदेह नहीं हैं इसलिए स्थानीय कमांडर्स ने इस मामले को अपने हाथ में ले रखा है।

दोनों देशों के बीच पिछले महीने के आखिर में 29 मई को DGMO स्तर की बातचीत हुई थी और सहमति बनी थी कि 2003 में हुए संघर्ष विराम के समझौते का पूरी भावना के साथ पालन किया जाए लेकिन पाकिस्तान अपनी बात पर टिका नहीं।

इधर खुफिया एजेंसियों ने चेताया है कि संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाएं पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव से पहले थमने वाली नहीं हैं। पाकिस्तान में आम चुनाव 25 जुलाई को होने हैं। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकियों के जरिए बीएसएफ जवानों को निशाना बना रही है। पाकिस्तान रेंजर्स भी इसमें शामिल है।

 

Comments

Most Popular

To Top