Featured

दुनिया के सबसे छोटे द्वीप देश पर भारत के रक्षा राज्य मंत्री

रक्षा राज्य मंत्री डा. सुभाष भामरे तथा नाउरो के राष्ट्रपति बेरन दिवावेसी वाका

नई दिल्ली। आस्ट्रेलिया से पूर्व में स्थित 21 वर्ग किलोमीटर में फैला नाउरो दुनिया का सबसे छोटा द्वीपीय देश है। यह देश मध्य प्रशांत महासागर में स्थित है।





10,100 की आबादी वाले इसी नाउरो गणराज्य का भारत के रक्षा राज्य मंत्री डा. सुभाष भामरे ने 16  और 17 मई को दौरा किया जहां पहुंचने पर नाउरो के राष्ट्रपति ने उनके सम्मान में एक बैठक आयोजित कर अपने कैबिनेट सहयोगियों का परिचय कराया। नाउरो के संविधान की 50 वीं सालगिरह पर राष्ट्रपति बेरन दिवावेसी वाका ने राजकीय भोज में डा. भामरे को आमंत्रित किया। इस मौके पर डा. भामरे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओऱ से भारतीय संविधान की एक प्रति भेंट की। राष्ट्रपति वाका ने इसके लिये प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया। डा.भामरे ने नाउरो के नेताओं के साथ बातचीत में विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के बारे में चर्चा की। उन्होंने कहा कि भारत नाउरो के साथ अपने रिश्तों को नई ऊंचाई पर ले जाएगा। उन्होंने कहा कि दोनों के बीच दोस्ती की गांठें और मजबूत होंगी।

रक्षा राज्य मंत्री डा. सुभाष भामरे तथा नाउरो के राष्ट्रपति बेरन दिवावेसी वाका

रक्षा राज्य मंत्री डा. सुभाष भामरे तथा नाउरो के राष्ट्रपति बेरन दिवावेसी वाका

नाउरो आगामी सितम्बर में प्रशांत द्वीप के नेताओं की एक बैठक करेगा जिसके लिये डा. भामरे ने पेशकश की कि भारत 27 महिन्द्रा एसयूवी और दो टाटा बसें भेंट करेगा। इसकी कुल लागत 706,000 डॉलर है।

डा. भामरे ने बाद में नाउरो बंदरगाह का दौरा किया और इसके बाद नाउरो पुलिस मुख्यालय भी गए। नाउरो में कुछ भारतीय मूल के लोग भी रहते हैं जिनके साथ डा. भामरे ने भोजन किया औऱ भरोसा दिया कि विदेशों में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों के कल्याण के लिये भारत सरकार कटिबद्ध है।

यहां राजनयिक पर्यवेक्षकों के मुताबिक छोटा देश होने के बावजूद नाउरो के साथ रिश्ते विकसित करना काफी अहम है। सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता जैसे मसलों पर संयुक्त राष्ट्र के सदस्य होने के नाते नाउरो की जरूरत कई बार मतदान के दौरान समर्थन के लिए पड़ सकती है।

Comments

Most Popular

To Top