Featured

ITBP शिमला कैंप पहुंचे शहीदों के लिए दौड़ लगाने वाले अल्ट्रा मैराथन समीर सिंह

धावक समीर सिंह

नई दिल्ली। शहीद सैनिकों के परिवारों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के उद्देश्य से फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार की पहल पर अल्ट्रा मैराथन धावक समीर सिंह भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के क्षेत्रीय कार्यालय शिमला पहुंचे।





रविवार सुबह 06 बजे उनकी दौड़ तारादेवी कैंप से शुरू हुई जिसमें बल के उप-महानिरीक्षक रमण खंडवाल, सेनानी  (स्टाफ) दीपक कुमार पाण्डेय तथा सभी पदाधिकारी शामिल हुए। धावक समीर सिंह की यह दौड़ राष्ट्रीय राजमार्ग-5 से होती हुई शिमला के ऐतिहासिक मैदान पहुंची। खास बात यह है कि इस दौड़ में स्थानीय नागरिक और सिविल प्रशासन के अधिकारी भी शामिल हुए। बाद में धावक समीर सिंह ने मंडी के लिए प्रस्थान किया।

ITBP जवान

धावक समीर सिंह मूलत: मध्य प्रदेश के एक गरीब किसान परिवार से हैं। बचपन से ही उनके मन में देश के प्रति कुछ कर गुजरने का जज्बा था और वह रॉ में शामिल होना चाहते थे। पर ग्रामीण इलाके में प्रयाप्त सुविधाएं न मिलने की वजह से वह सिर्फ चौथी कक्षा तक की ही पढ़ाई कर पाए और रॉ में जाने का उनका सपना अधूरा रह गया। अक्षय कुमार के इस कैंपेन के जरिए उन्हें देश और शहीदों के लिए कुछ करने का मौका मिला।

अल्ट्रा मैराथन धावक समीर सिंह कहते हैं कि उन्होंने गत एक दिसंबर, 2017 को वाघा बॉर्डर से यह यात्रा शुरू की थी। इसके बाद से वह लगातार रोजाना तकरीबन 70-100 किमी की दूरी तय कर रहे हैं। वह सुबह 5-6 बजे के बीच दौड़ आरंभ कर देते हैं और रात 10-12 बजे तक दौड़ लगाते हैं। भारत के लगभग सभी राज्यों का भ्रमण करते हुए 15,000 किमी की दौड़ पूरी कर वाघा बॉर्डर तक पहुंचना उनका लक्ष्य है। यात्रा के दौरान वह लोगों को शहीदों के परिवारों के लिए ऑनलाइन मदद करने की अपील करते हैं। समीर जब दौड़ लगाते हैं तो उनके आगे-पीछे एक-एक गाड़ी रहती है, जिसमें उनके छोटे भाई, कोच तथा अन्य सहयोगी रहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top