Featured

ITBP की पहल से वन किशोरों को मिला रोजगार

वन किशोरों को मिला रोजगार

नई दिल्ली। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) की एक सार्थक पहल से छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र के पढ़े-लिखे वन किशोरों को रोजगार मिला है। कौशल विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत सेंट्रल इंस्टीच्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (CIPET) द्वारा चलाए गए वोकेशनल कोर्स के माध्यम से ऐसा संभव हुआ है। रोजगार पाने के बाद युवाओं में आर्थिक स्थिति, जीवनशैली तथा सोच-विचार में साफ अंतर दिखाई दे रहा है जो समाज के अन्य शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिए प्रेरणादायी है।





ITBP द्वारा वन किशोरों को रोजगार

गौरतलब है कि 38वीं वाहिनी ने ये पहल वर्ष 2017 में शुरू की थी। वाहिनी ने अपने कार्यक्षेत्र में दूरदराज के इलाकों में जाकर नागरिकों से संपर्क किया तथा शिक्षित बेरोजगार युवा-युवातियों को CIPET (रायपुर) द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न व्यावसायिक पाठ्क्रमों में नामांकन प्रक्रिया तथा कोर्स पूरा होने के बाद रोजगार की गारंटी आदि के बारे में बताया। काफी संख्या में युवक-युवातियां नामांकन के लिए प्रेरित हुए और कोर्स पूरा होने के बाद विभिन्न कंपनियों में उन्हें रोजगार मिला।

सशस्त्र बल की 38वीं के प्रयास से वन किशोर उचित मार्ग दर्शन पाकर, खुद को नक्सलवाद से बचाकर समाज के मुख्यधारा में शामिल हो गए हैं।

रक्षक न्यूज की राय-

खतरनाक और बीहड़ नक्सल प्रभावित जंगलों के बीच रह रहे शिक्षित युवाओं को अपना काम-धंधा शुरू करने की ITBP  की यह पहल सराहनीय भी है और अनुकरणीय भी। निश्चय ही सशस्त्र बल का यह प्रयास आने वाले समय मे और युवाओं को मुख्यधारा में शामिल करेगा।

Comments

Most Popular

To Top