Featured

ISRO ने पांच वर्ष में 202 विदेशी उपग्रह लॉन्च किए

Satellite

नई दिल्ली। पिछले 5 वर्षों के दौरान इसरो (ISRO) ने 26 लांच व्हेकिल अभियान, 28 भारतीय उपग्रहों, 7 प्रौद्योगिकी डिमोन्स्ट्रेटर (4 उपग्रह + 3 लांच व्हेकिल), भारतीय विश्वविद्यालयों/संस्थानों के लिए 5 छात्र उपग्रह और 202 विदेशी उपग्रह लांच किए हैं।





यह सूचना आज राज्यसभा में पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा तथा अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।

अंतरिक्ष अनुसंधान को समकालीन आवश्यकताओं के साथ जोड़ना

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अपनी स्थापना के समय से ही अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के लाभों को राष्ट्रीय विकास और जनता के जीवन में सुधार लाने के लिए उपयोग करता आ रहा है। उपग्रह आधारित डाटा और सेवाएं लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए इस्तेमाल की जा रही हैं। इनमें टेलीविजन प्रसारण, डीटीएच, एटीएम, मोबाइल संचार सेवा, टेली-शिक्षा, टेली-मेडिसिन, मौसम की जानकारी और सलाह, कृषि संबंधित सेवाएं इत्यादि शामिल हैं।

शासन और लोक प्रशासन में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को प्रोत्साहन देने के लिए अंतरिक्ष विभाग ने इसरो में विशेषज्ञ कार्य समूहों का गठन किया। यह कार्य समूह सरकारी विभागों के साथ सक्रिय भागीदारी करते हैं और शासन में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के कारगर इस्तेमाल और विकास के संबंध में संयुक्त कार्य योजना बनाते रहे हैं। इस विषय पर सितंबर, 2015 में नई दिल्ली में एक राष्ट्रीय बैठक भी हुई थी, जिसमें सभी केन्द्रीय मंत्रालयों/विभागों ने हिस्सा लिया था। इस बैठक में 127 परियोजनाओं की रूपरेखा तैयार की गई थी। इन परियोजनाओं को राष्ट्रीय संसाधन प्रबंधन, आयोजना, निगरानी एवं नीति निर्धारण तथा आपदा जोखिम रोकथाम क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा रहा है।

यह सूचना आज राज्यसभा में पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा तथा अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।

Comments

Most Popular

To Top