Featured

हिंद महासागर में फ्रांसीसी द्वीप के पास भारत-फ्रांस का साझा नौसैनिक अभ्यास

साझा नौसैनिक अभ्यास
भारत-फ्रांस का साझा नौसैनिक अभ्यास (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस की नौसेनाओं के बीच सालाना आयोजित होने वाला साझा नौसैनिक अभ्यास वरुण का तीसरा चरण एक मई से शुरु हो गया जो सात मई तक चलेगा। यह अभ्यास हिंद महासागर में स्थित फ्रांस के रियूनियन आइलैंड के नजदीक आयोजित किया जा रहा है। फ्रांस के इस द्वीप पर फ्रांस के साढ़े आठ लाख नागरिक रहते हैं।





इस अभ्यास के पहले चरण में फ्रांस की परमाणु पनडुब्बी के साथ भारतीय नौसेना की नवीनतम कलवरी वर्ग की फ्रांस के सहयोग से बनी पनडुब्बी ने साझा पनडुब्बी नाशक युद्धाभ्यास किया था। अभ्यास का दूसरा चरण चेन्नै के समुद्र तट पर हुआ था जिसमें फ्रांस के लैंडिंग हेलीकाप्टर डाक एलएचडी डिक्समुडे ने भाग लिया था।

वरुणा अभ्यास के तीसरे चरण में भारतीय नौसेना ने अपने अग्रणी विध्वंसक पोत आईएनएस मुम्बई और फ्रिगेट आईएनएस त्रिखंड को उतारा है। फ्रांस के रियूनियन आईलैंड पर पहली बार भारतीय नौसेना के ये युद्धपोत गए हैं। भारतीय नौसेना के समुद्र टोही विमान पी-8-आई का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। रियूनियन आईलैंड पर भारतीय नौसैनिक फ्रांसीसी नौसैनिक अधिकारियों के साथ आपसी मेलजोल भी कर रहे हैं।

वरुण अभ्यास की अहमियत के बारे में यहां फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंडर जिगलर ने कहा कि यह अभ्यास बताता है कि भारत और फ्रांस समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करने में किस तरह आपसी सहयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वरुण अभ्यास भारत-फ्रांस के बीच सामरिक साझेदारी का मजबूत प्रतीक है। वरुण अभ्यास भारत औऱ फ्रांस के बीच दीर्घकालीन सामरिक साझेदारी का एक हिस्सा है।

Comments

Most Popular

To Top