Featured

रक्षा क्षेत्र में भारत को बड़ी सफलता, नाग मिसाइल का हुआ सफल परीक्षण

नाग-मिसाइल

जयपुर। भारत को रक्षा क्षेत्र में बड़ी कामयाबी मिली है। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) ने देश में विकसित तीसरी पीढ़ी की एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (एटीजीएम) नाग का जिले के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में सफल टेस्ट किया गया।





एक अखबार में छपी खबरों के मुताबिक मिसाइल एंड स्ट्रैटेजिक सिस्टम्स के महानिदेशक जी सतीश रेड्डी ने कहा कि सफलतापूर्वक परीक्षण ने अलग-अलग परिस्थितियों में निशाना भेदने की एटीजीएम की प्रोद्योगिकियों को प्रमाणित किया है।

टैंकरोधी मिसाइल ‘नाग’ को भारतीय सेना की जान है (फाइल फोटो)

सूत्रों के अनुसार, एटीजीएम नाग का बुधवार को मरुस्थल में अलग-अलग रेंज और समय में दो टैंकों पर सफलतापूर्वक टेस्ट किया गया। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही, मिसाइल के उन्नतिशील परीक्षण पूरे हो गए हैं। अब यह तैनात किए जाने के लिए तैयार है। डीआरडीओ के चेयरमैन और सचिव एस क्रिस्टोफर ने इस कामयाबी के लिए पूरी नाग टीम को बधाई दी है।

जानिए नाग मिसाइल की खासियत-

  • नाग फायर एंड फोरगेट श्रेणी की मिसाइल है।
  • इसके दागे जाने के बाद रोक पाना संभव नहीं है।
  • नाग मिसाइल का वजन 42 किलोग्राम है।
  • यह अपने साथ 8 किलोग्राम वजनी विस्फोटक लेकर चल सकती है।
  • नाग मिसाइल की गति 230 मीटर प्रति सेकंड है।
  • नाग मिसाइल का मारक क्षमता 8 किलोमीटर तक है

Comments

Most Popular

To Top