Featured

परमाणु अप्रसार को बेहद गंभीरता से लेता है भारत: रक्षा मंत्री सीतारमण

रक्षा मंत्री
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल)

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक समारोह में कहा कि भारत परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर न करने के बावजूद परमाणु अप्रसार नियमों का पालन कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम अप्रसार को लेकर प्रतिबद्धता के तौर पर परमाणु संधियों पर हस्ताक्षर कर रहे हैं और गैरकानूनी प्रसार का समर्थन नहीं करते हैं। एक वेबसाइट के मुताबिक रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए कहा कि पड़ोसी मुल्क के उलट भारत परमाणु अप्रसार को बेहद गंभीरता से लेता है और डर्टी बमों (Radioactive Explosive) में विश्वास नहीं करता। रक्षा मंत्री एक बुक के लॉन्चिंग के मौके पर बोल रही थीं।





‘घुसपैठ को लेकर हम सतर्क हैं’

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अपने कुछ पड़ोसियों के उलट भारत डर्टी बमों में विश्वास नहीं करता और परमाणु अप्रसार को बेहद गंभीरता से लेता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ के प्रयासों में कमी आई है और आगे कहा कि हम सतर्क हैं, हम घुसपैठ नहीं होने देंगे।

परमाणु अप्रसार क्षेत्र में भारत का कद और हुआ ऊंचा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी साल 2018 में 20 जनवरी को ट्वीट कर कहा था कि परमाणु अप्रसार के क्षेत्र में भारत का कद बढ़ने की पूरी संभावना है और इससे महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी हासिल करने में मदद मिल सकती है। पीएम ने ट्वीट में लिखा था कि ऑस्ट्रेलिया और निर्यात नियंत्रण से जुड़े ऑस्ट्रेलियाई समूह के अन्य सदस्य देशों को इसमें भारत के प्रवेश में समर्थन देने के लिए धन्यवाद देता हूं।

Comments

Most Popular

To Top