Featured

भारतीय नौसेना ने डाकुओं वाले समुद्री इलाके में नार्वे के पोत को बचाया

भारतीय नौसेना

नई दिल्ली। खतरनाक समुद्री डाकुओं वाली अदन की खाड़ी के इलाके में संकट में फंसे नार्वे के एक व्यापारिक पोत को भारतीय नौसेना के युद्धपोत आईएनएस तेग ने बचाया और अत्यधिक व्यस्त इस इलाके में समुद्री आवाजाही को सुचारू रुप से चलने में मदद दी।





नार्वे के स्वामित्व वाले लेकिन भारतीय स्टाफ वाले इस व्यापारिक जहाज एम वी वेला को संकट से निकालने पर समुद्री सुरक्षा एजेंसियों ने भारतीय नौसेना को अपना आभार जाहिर किया है। यह घटना 25 अगस्त की है जब अदन की खाड़ी की चौकसी में लगे कम्बाइंड टास्क फोर्स ने इस इलाके में विचरण कर रहे भारतीय युद्धपोत को आपात संदेश भेज कर मदद मांगी। आईएनएस तेग ने तुरंत एम वी वेला पोत पर  इंजीनियरिंग अफसर की अगुवाई में अपनी विशेषज्ञ टीम को भेजा और वहां पाया कि पोत वेला का 42 टन वजन वाला 330 मीटर लम्बा केबल अपने पोर्ट हैंगर के साथ गलती से अलग हो गया और समुद्र में लटका हुआ था।

तेग के नौसेनिकों ने तीन दिन के अथक प्रयास से केबल को समेटने में कामयाबी पाई और नार्वे के जहाज को सक्रिय करने में सफलता हासिल की। यहां नौसैनिक अधिकारियों ने बताया कि नार्वे के जहाज को यदि आपात मदद नहीं दी जाती तो पड़ोस में फटक रहे समुद्री डाकुओं के वे शिकार बन सकते थे। इसके अलावा यदि व्यापारिक जहाज दुर्घटनाग्रस्त हो जाता तो वहां व्यापारिक पोतों की आवाजाही बाधित हो सकती थी क्योंकि वह इलाका समुद्री व्यापार की वजह से अत्य़धिक व्यस्त है।

Comments

Most Popular

To Top