Featured

भारत के ‘छाताधारी सैनिकों’ ने पाक के होश उड़ा दिए थे 1971 के युद्ध में, 7 खासियतें

युद्ध के तौर-तरीके कितने ही आधुनिक हो जाएं, लेकिन दुश्मन की सुरक्षा घेरे में सेंध लगाने के लिए छाताधारी सैनिकों की बात ही निराली है। इतिहास गवाह है कि छाताधारी सैनिकों ने दुश्मन की जमीन पर उतारकर लड़ाइयों के नतीजे बदल दिए। आज हम आपको छाताधारी सैनिकों के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं।





दुश्मन को भौंचक्का कर देते हैं छाताधारी सैनिक

सबसे पहला पैराशूट

 

जैसा कि नाम से जाहिर है छाताधारी सैनिक पैराशूट के जरिए दुश्मन की जमीन पर उतरकर उसे भौंचक्का कर देते हैं। जब तक दुश्मन संभले तक तक तो छाताधारी सैनिक अपना काम तमाम कर चुका होता है। हालांकि सैनिकों का पैराशूट के जरिए ऊंचाई से हवा में उतरने का सिलसिला विमानों के अस्तित्व में आने के बाद शुरू हुआ लेकिन सच यह है कि ऊंचाई से छतरियों के सहारे छलांग लगाना एक खेल के रूप में बहुत पहले शुरू हो चुका था। माना जाता है कि ग्यारहवीं सदी में चीन में ऊंचाई से हवा में छलांग लगाने का खेल खेला जाता था।

 

Comments

Most Popular

To Top