Featured

हिटलर के ये 10 हथियार हो जाते कामयाब तो तबाह हो जाती दुनिया

दूसरे विश्वयुद्ध के आखिरी दिनों में हिटलर की सेना ने मेगा हथियार बनाने की कोशिशें तेज कर दी थीं। इन हथियारों में चार मंजिले भवन के आकार के जेट बॉम्बर भी थे, लेकिन संयोग की बात यह रही कि इन मेगा हथियारों से ज्यादातर के तो सिर्फ प्रोटोटाइप (डिजाइन) ही बन पाए। अगर हिटलर उस वक्त इन हथियारों को बनाने में कामयाब रहता तो युद्ध का परिणाम कुछ और भी हो सकता था। बाद के बरसों में इन हथियारों के प्रोटोटाइप सामने आए तो उससे पता चला कि अगर उस वक्त ये हथियार बन गए होते तो दुनिया में भारी तबाही मच सकती थी। आइए जानते हैं हिटलर की सेना किस तरह के हथियार बनाने पर काम कर रही थी।





The Horten Ho 229

Horten-229

 

जेट बॉम्बर आज भले ही प्रचलन में आम हों लेकिन आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि हिटलर की सेना ने उस समय इसकी कल्पना कर ली थी। The Horten Ho 229 नाजियों द्वारा बनाया सुपर हथियार था जो बिना रेडार की जद में आए दुश्मन के ठिकाने में घुस सकता था। The Horten Ho 229 प्रति घंटे 1000 किलोमीटर की गति से इतनी ही दूरी तक 1000 किलोग्राम बम ले जा सकता था। पर इसमें दिक्कत ईंधन की खपत की थी। हालांकि हिटलर ने बड़ी संख्या में इन्हें बनाने का आदेश दे दिया था लेकिन कई कारणों से इनके सिर्फ प्रोटोटाइप ही बन पाए।

Comments

Most Popular

To Top