Featured

हरियाणा में शहीद सैनिकों के 225 आश्रितों को मिली सरकारी नौकरी

सीएम मनोहर लाल खट्टर

नई दिल्ली। हरियाणा में पिछले चार वर्षों में शहीद सैनिकों के 225 आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी दी गई है। जबकि पिछले 48 वर्षों में केवल 6 नौकरियां अनुकंपा के आधार पर दिये जाने का दावा सूबे की सरकार ने किया है। वीरों और शहीदों का सम्मान बढ़ाते हुए कई अन्य सुविधाएं सेना और सैन्य बलों के जवानों को दी जा रही हैं।





पिछले दिनों हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नई दिल्ली के हरियाणा भवन में प्रेस वार्ता कर सरकार की योजनाओं तथा उससे जुड़ी उपलब्धियों को बताया था। उनका कहना था कि सैनिकों के हितों को लेकर भी सरकार ने कई अहम फैसले लिए हैं। उनका कहना था कि सेना और सैन्यबल नई चुनौतियों के बीच अपने कर्तव्य का पालन कर रहे हैं।

राज्य सरकार ने युद्ध के दौरान शहीद हुए सेना के जवानों तथा अर्धसैनिक बलों के जवानों को दी जाने वाली अनुग्रह राशि बढ़ाकर 50 लाख रुपये कर दी है। दूसरे विश्वयुद्ध के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता बढ़ाकर 10 हजार रुपये मासिक कर दी गई है।

इसी तरह वीरता पुरस्कार प्राप्त सैनिकों को राज्य परिवहन की सामान्य बसों में सूबे की सीमा के भीतर मुफ्त यात्रा की सुविधा दी गई है। अलावा इसके झज्जर जिले के गांव मातनहेल में सैनिक स्कूल खोलने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

Comments

Most Popular

To Top