Featured

गढ़वाल राइफल्स के सैनिकों और शहीदों के बच्चों को अब दून में मिलेगी हॉस्टल सुविधा

गढ़वाल राइफल्स के जवान
गढ़वाल राइफल्स के जवान (फाइल)

देहरादून। गढ़वाल राइफल्स के सैनिकों, पूर्व सैनिकों और शहीदों के बच्चे दून में रहकर पढ़ाई कर सकेंगे। अब उन्हें दून में हॉस्टल की सुविधा मिलेगी। सहस्रधारा रोड पर लखौंड में 22 बीघा जमीन पर गढ़वाल राइफल्स वार मेमोरियल ब्वायज एंड गर्ल्स हॉस्टल बनकर तैयार हो गया है। रविवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया। इस अवसर पर थल सेनाध्यक्ष बिपिन राव, उप सेना प्रमुख जनरल शरत चंद और पूर्व मुख्यमंत्री बी. सी. खंडूड़ी भी उपस्थित थे।





इस हॉस्टल में 125 छात्रों और 125 छात्राओं के रहने की व्यवस्था है। हॉस्टल निर्माण के लिए राज्य सरकार ने मुफ्त भूमि उपलब्ध कराने के अलावा ढाई करोड़ रुपये की मदद भी की है।

इस हॉस्टल के निर्माण से सैनिकों के बच्चों को उचित वातावरण में बेहतर शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिलेगा। स्कूल आने-जाने के लिए बस की व्यवस्था के अतिरिक्त छात्रावस के अंदर ही चिकित्सीय सुविधा, पुस्तकालय, कंप्यूटर लैब, प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग और काउंसलिंग का भी प्रबंध है।

इस अवसर पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बताया कि कैसे उन्होंने इस हॉस्टल के निर्माण का सपना देखा था। उन्होंने बताया कि हॉस्टल निर्माण के अलावा तीन करोड़ रुपये से ज्यादा का कॉर्प्स फंड भी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि इसके निर्माण में सेवारत औऱ सेवानिवृत्त सैनिकों सभी ने सहयोग दिया।

रक्षक न्यूज की राय: 

यह एक सकारात्मक पहल है जिसके तहत गढ़वाल राइफल्स के सैनिकों, भूतपूर्व सैनिकों और शहीदों के बच्चों को छात्रावास की सुविधा मिलेगी। इससे उत्तराखंड राज्य के दूरदराज के बच्चे अच्छी सुविधा तथा शिक्षा पाकर सेना व देश के लिए काम करने के लिए प्रेरित होंगे। अन्य राज्य सरकारों को भी ऐसी ही पहल करनी चाहिए ताकि राष्ट्रप्रेम से ओतप्रोत ऊर्जावान किशोर मुस्तैदी से आगे बढ़ सकें।

Comments

Most Popular

To Top