Featured

बोफोर्स की जगह ‘धनुष’ तोप फरवरी में होगी सेना में शामिल

स्वदेशी 'धनुष' तोप

नई दिल्ली। ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कानपुर और फील्ड गन फैक्ट्री में बनी ‘धनुष’ और ‘सारंग’ जल्द सैन्य बेड़े में शामिल होंगी। इसी साल फरवरी में एक समारोह में दोनों को औपचारिक रूप से भारतीय सेना में कमीशन की जाएंगी। दोनों ही गन सेना के हर परीक्षण में पूरी तरह सफल रही।





पूरी तरह से स्वदेशी ‘धनुष’ तोप को बोफोर्स तोप की जगह तैनात करने का काम शुरू हो चुका है। ‘धनुष’ दुनिया की सबसे मारक तोपों में से एक है। बोफोर्स की तुलना में इसकी मारक क्षमता 18 किलोमीटर अधिक है। अभी केवल 414 तोप बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। ‘धनुष’ तोप इतनी कारगर है कि इसे 31 साल पुरानी बोफोर्स तोप की जगह तैनात किया जा रहा है।

खास बात यह है कि भारतीय सेना को देने से पहले इससे 2,000 राउंड फायर किए गए। और सेना ने भी हरी झंडी देने से पहले सियाचिन और राजस्थान में तकरीबन 1,500 टेस्ट फायर किए। तब कहीं जाकर इसे अपने बेड़े में शामिल किया है।

‘सारंग तोप’ रूसी तोप एम- 46 टाउड को रिप्लेस करेगी। यह सन् 1968 से सेना के पास है। सारंग तोप इजराइली तोप साल्टम का ही आधुनिक संस्करण है। मार्च 2018 में हुए कई परीक्षणों में कई तोपों को पछाड़कर ओपेन बीड में सेना से ऑर्डर हासिल किया था। साल 2022 तक 300 सारंग तोपों का निर्माण कर सेना को दिया जाना है।

Comments

Most Popular

To Top