Featured

CRPF जवान मनोज तोमर की एम्स में सर्जरी आज, पॉलीथिन में आंत रखकर भटकने को थे मजबूर

सीआरपीएफ के जवान मनोज तोमर
CRPF जवान मनोज तोमर (फाइल)

नई दिल्ली। साल 2014 में नक्सली हमले में सीआरपीएफ जवान मनोज तोमर को 07 गोलियां लगने के बाद आंत का कुछ हिस्सा पेट के बाहर लेकर घूमने को मजबूर थे। मध्य प्रदेश सरकार के हस्तक्षेप के बाद आज (गुरुवार) दिल्ली के एम्स में जवान की सर्जरी की प्रक्रिया शुरू की गई। चिकित्सक दल ने बुधवार को शुरुआती जांच के बाद सर्जरी करने का फैसला किया।





एम्स प्रवक्ता के अनुसार, मनोज को एम्स के ट्रांमा सेंटर वार्ड में भर्ती किया गया है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के उच्च ऑफिसरों की निगरानी में जवान को ग्वालियर स्थित उनके निवास से एयर कंडिशनर एंबुलेंस में बुधवार को दिल्ली लाया गया। मध्य प्रदेश शासन की तरफ से एक डॉक्टर और एक राजस्व अधिकारी को मनोज के साथ भेजा गया, ताकि उन्हें यहां कोई दिक्कत न हो। मनोज की देखरेख के लिए सीआरपीएफ अधिकारियों की टीम भी मौजूद है।

एम्स के प्रवक्ता ने जानकारी दी की डॉ. प्रो. विप्लव शर्मा के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम ने बुधवार को मनोज तोमर का चेकअप किया। डॉक्टरों की टीम ने उनके पेट की तुरंत सर्जरी करने का निर्णय लिया, जिसके बाद उन्हें रात 9:30 बजे ट्रॉमा सेंटर के वार्ड में भर्ती किया गया।

जवान मनोज तोमर पॉलीथिन में आंत रखककर जीने को मजबूर थे

बता दें कि मुरैना में रहने वाले जवान मनोज तोमर को मार्च, 2014 को नक्सलियों ने घात लगाकर सीआरपीएफ दल पर हमला कर दिया था। इस हमले में 11 जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी, जिसमें मनोज तोमर 7 गोलियां लगने के बाद भी बच गए थे लेकिन इलाज के लिए दर-दर भटकने को मजबूर थे। मनोज ने अपनी 16 वर्ष की सेवा अवधि में सीआरपीएफ और एसपीजी कमांडो के तौर पर कार्य किया है।

Comments

Most Popular

To Top