Featured

चीन का बड़ा फैसला, सीमा पर अब PLA के जवान होंगे तैनात

पीपल्स लिबरेशन आर्मी
पीपल्स लिबरेशन आर्मी (प्रतीकात्मक)

बीजिंग। चीन ने अपनी सीमा सुरक्षा नीति में बड़ा बदलाव करते हुए तय किया है कि अब बॉर्डर के इलाकों की निगरानी और प्रबंधन का नियंत्रण पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के हाथों में होगा। इंडिया टूडे की एक खबर के मुताबिक इस फैसले से सीमावर्ती इलाकों का समूचा नियंत्रण अब PLA के हाथ में आ जायेगा। पहले चीन की सीमा की सुरक्षा निगरानी पुलिस के पास थी। चीन की सीमाएं कई देशों से लगती हैं। सीमाओं को लेकर चीन का कमोबेश अपने तमाम पड़ोसियों से विवाद चल रहा है। ऐसे में इस फैसले से कई देशों की चिंताएं बढ़ सकती हैं।





वैसे तो बॉर्डर इलाकों में PLA पहले से ही तैनात रही है लेकिन बॉर्डर प्वाइंट्स इलाकों में सीमा पुलिस मुख्य तौर पर रहती थी और पुलिस ही पब्लिक सिक्यूरिटी मंत्रालय को रिपोर्ट करती थी। अब सीमा पुलिस PLA को रिपोर्ट करने लगी है। नीति में बदलाव के बाद अब बॉर्डर का चार्ज पूरी तरह से PLA को मिल जाएगा।

सिर्फ यही नहीं पिछले कुछ समय में चीन ने अपनी रक्षा नीतियों को लेकर कई बड़े फैसले लिए हैं। चंद रोज पहले ही चीन ने लेफ्टिनेंट जनरल वेई फेंग को रक्षा मंत्री नियुक्त किया है। वेई फेंग चीन में मिसाइल मैन के नाम से लोकप्रिय हैं। चीन के मिसाइल बल को दो हिस्सों रॉकेट फोर्स और सामरिक सपोर्ट फोर्स में बांटने में वेई फेंग की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने वर्ष 1970 में PLA ज्वॉइन की थी। सेना को ताकतवर बनाने के लिए वह राष्ट्रपित शी जिनपिंग को सुझाव देते रहते हैं। इसी तरह चीन ने इस बार अपने रक्षा बजट में 8 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी कर चौंका दिया था।

 

Comments

Most Popular

To Top