Featured

चीन ने तिब्बत में भारतीय सीमा के पास फिर किया सैन्य अभ्यास

चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी

पेइचिंग। तिब्बत में भारतीय सीमा के निकट चीन के सैनिकों ने एक बार फिर अभ्यास किया। चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के अखबार PLA DAILY के मुताबिक तिब्बत के ऊंचे क्षेत्र में एक काल्पनिक सीमा बनाई गई और दुश्मन की सीमा के पीछे जाकर हमला करने का अभ्यास किया गया। इस अभ्यास में स्पेशल फोर्सेज और पायलटों ने भी भाग लिया। इस अभ्यास का एक मकसद हेलिकॉप्टर पायलटों की ग्राउंड ट्रेनिंग और ऊंचाई वाले एरिया में अपने कौशल को परखना भी था।





PLA DAILY के मुताबिक पायलट और स्पेशल फोर्सेज के जवान हेलिकॉप्टर से नीचे और अपने मिशन को पूरा किया। पिछले तीन सप्ताह में यह दूसरा सैन्य अभ्यास है जिसके बारे में चीनी मीडिया ने जानकारी दी है। गौरतलब है कि बीते 29 जून को आधिकारिक मीडिया ने ऐसे ही सैन्य अभ्यास के बारे में बताया था। वह अभ्यास भी तिब्बत में भारत से सटे हिमलाय क्षेत्र में किया गया था।

मिलिट्री एक्सपर्ट Song Zhongping ने ग्लोबल टाइम्स के साथ बातचीत में कहा कि इस सैन्य अभ्यास में भारत के साथ संभावित सैन्य संघर्ष के मद्देनजर सैनिकों को तैयार किया गया। Song Zhongping ने कहा कि किसी भी सैन्य प्रशिक्षण के लिए एक काल्पनिक विरोधी ताकत का होना सामान्य बात है। जब सैन्य अभ्यास तिब्बत के पठार पर किया जा रहा हो तो स्पष्ट है कि लक्ष्य कौन है।

उन्होंने यह भी कहा कि दुश्मन की लाइन के पीछे से घुसपैठ कर हमला करना एक प्रभावी ऑपरेशन है जो युद्ध जीतने की कुंजी हो सकता है। इस तरह के प्रशिक्षण का अभ्यास करना सभी सुरक्षा बलों के लिए अहम है।

Song Zhongping ने कहा चीनी पायलट इस साल स्पेशल फोर्सेज के साथ संयुक्त ऑपरेशंस की ट्रेनिंग कर रहे हैं ताकि एक दूसरे की जरूरतों को समझ सकें। और इस तरह युद्ध सहयोग को बढ़ाया जा सके।

Comments

Most Popular

To Top